Thursday, Jan 19, 2017
Homeसोशल-वाणी (Page 2)

“सोशल मीडिया पर सजे अफवाही बाजारों पर नज़र- सही पकड़े हैं @###”।

अंग्रेजों को हिला देने वाले काकोरी कांड के नायक और 'हसरत' उपनाम से उर्दू के उम्दा शायर अशफाक उल्लाह खां

हां साहब बहादुर हम अमीर ही तो हैं। देखिये न खून जला-जला कर और पेट काट-काट कर बचाये हुए कुछ

गलत है उनकी बात पर चर्चा करना। सबसे पहले चर्चा की ज़ी न्यूज़ ने फिर बाकि सबने शुरू कर दी

मुझे उम्मीद थी कि कानपुर दुर्घटना के मद्देनज़र मोदी जी आगरा की बीजेपी की रैली रद्द कर देंगे। भारत के

रवीश कुमार ने उस रोज़ अच्छी बात कही थी कि हम कैसा लोकतंत्र बना रहे हैं जिसमें सवाल उठाने वाले