पनामा पेपर लीक मामले में सुप्रीम कोर्ट ने आज पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को दोषी करार देते हुए उन्‍हें अयोग्‍य ठहराया है। कोर्ट के इस फैसले के बाद उन्‍होंने अपने पद से इस्‍तीफा दे दिया है। पनामा पेपर्स के खुलासे में भारत के भी कई नामचीन हस्तियों के नाम सामने आए थे लेकिन इन पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।

आम आदमी पार्टी ने इस मुद्दे पर मोदी सरकार को आड़े हाथों लिया है। आम आदमी पार्टी के नेता आशुतोष ने कहा कि,

“पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने अपने प्रधानमंत्री को अयोग्य पाने पर उन्हें डिसक्वालिफाई कर दिया। हैरानी की बात है कि हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भ्रष्टाचार पर कुछ नहीं कर रहे।

पनामा पेपर्स मामले में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह के बेटे अभिषेक सिंह, अमिताभ बच्चन, अजय देवगन, गौतम अडानी, विनोद अडानी, डीएलएफ ग्रुप के चेयरमैन केपी सिंह और करीब 474 लोगों के नाम हैं, पर आज तक इन पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।

जबकि हमारे देश के लोकतंत्र, न्याय व्यवस्था और मीडिया की दुहाई पूरी दुनिया में दी जाती है। मोदी सरकार और भाजपा का एजेंडा विपक्ष और विपक्ष के नेताओं को लोकतंत्र से बेदख़ल करना है और अपने भ्रष्टाचार को छुपाना है।”

पनामा पेपर्स के रिसर्च में दुनियाभर के 100 से ज़्यादा मीडिया हाउस के 370 पत्रकार थे। इनमें 3 भारतीय पत्रकार भी थे।

Loading...
loading...