उत्तर प्रदेश में सरकार लगातार असंवेदनशील होती जा रही है। रामराज्य का नाम लेकर लगातार चौतरफा हिंसा हो रही हैं। कभी अफसरों पर हमलें तो कभी अफसरों के जनता पर हमलें देखने को मिल रहे हैं। फिर भी सरकार कोई बड़े बदलाव के मूड़ में नहीं दिख रही है।

नया मामला देवरिया का है। जहां शहीद प्रेम सागर के परिवार से मिलने पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रशासन ने शहीद के परिवार को मजाक बनाया।

दरअसल पिछले दिनों देवरिया के टीकमपार गांव के रहने वाले प्रेम सागर पूंछ में शहीद हो गए थे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ परिजन से मिलने पहुंचे थे।

स्थानीय प्रशासन को मुख्यमंत्री के आने की ख़बर मिली तो प्रशासन ने आनन-फानन में बांस-बल्ली से एसी लगा दी।

बाद में पूरे घर में कालीन बिछा दी गई। सोफा लगा दिया गया। बाहर से लाकर पानी की बोतलें रख दी गई।

शहीद प्रेम सागर के बेटे ने दैनिक भास्कर को बताया कि, रातों-रात में घर की तस्वीर बदल दी गई। साफ तौलिए, साफ गांव की सड़के व साफ और घर के अंदर मजदूर लगाकर पेंट भी करा दिया गया।

पूरे घर को हाईटेक बना दिया गया। लेकिन मुख्यमंत्री के जाने के 30 मीनट बाद शहीद परिजन से घर लगी सारी सुविधाएं उखाड़ ली गई। क्या शहीद के परिजन से मिलने के लिए प्रदेश के मुखिया को इतना सबकुछ करना चाहिए ?

 

Loading...
loading...