9 दिसम्बर को गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान होने हैं। इस बीच उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अहमदाबाद पहुंचकर प्रेस कांफ्रेंस की।

उन्होंने कहा कि “गुजरात में युवा नेतृत्व कर रहा है इसकी सबसे ज्यादा खुशी हमें है, हम गुजरात की जनता से अपील करते हैं कि जहाँ हम चुनाव नहीं लड़ रहे वहां राहुल गाँधी, हार्दिक, जिग्नेश और अल्पेश को जिताएं।”

उन्होंने कहा कि “मैं मतदान के आखिरी दिन गुजरात की जनता को चेताने आया हूँ कि वो बीजेपी के धोखे में ना आएं। इनका पूरा विकास मॉडल धोखे का मॉडल है।”

हमने उत्तर प्रदेश का चुनाव विकास के नाम ‘काम बोलता है’ पर लड़ा लेकिन पूरे देश को गुजरात मॉडल बताने वाली बीजेपी ने गुजरात में ही विकास नहीं किया।

उन्होंने सिर्फ लोगों को बाटने का काम किया है। विधानसभा चुनाव में विकास की बात खुल गई है। दरअसल गुजरात मॉडल है ही नहीं, पूरा गुजरात मॉडल धोखे वाला मॉडल है।

अखिलेश ने कहा कि बीजेपी धोखे देने और प्रचार करने में आगे है, बीजेपी की विकास की बात झूठी है। लेकिन जब हम यूपी में विकास की बात करते थे तो बीजेपी जाति और धर्म की बात करती थी।

बता दें कि गुजरात के अलग-अलग आंदोलनों से हार्दिक पटेल, जिग्नेश मेवानी और अल्पेश ठाकोर एक सशक्त नेता के तौर पर उभरे हैं। इन तीनों युवा नेताओं ने गुजरात की मुख्यधारा की राजनीति में ऐतिहासिक बदलाव किए हैं।

Loading...
loading...