गुरुवार को राजस्थान की दो लोकसभा और एक विधानसभा उपचुनाव में भाजपा को बुरी हार मिली है। अलवर, अजमेर और मंडलगढ़ सीटों पर हुए चुनाव में कांग्रेस के प्रत्याशियों को जीत मिली। अजमेर से रघु शर्मा, अलवर से करण सिंह यादव और मंडलगढ़ से विवेक धाकड़ को जनता ने भारी मतों से जिताया।

समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इसे बीजेपी की ऐतिहासिक हार बताया है। अखिलेश ने ट्वीट करके कहा कि “उपचुनावों में हर जगह भाजपा की ऐतिहासिक हार ने साबित कर दिया है कि जनता के साथ धोखा और जुमलेबाज़ी करने का क्या हाल होता है।

ये त्रस्त गरीबों, किसानों, युवाओं, कारोबारियों व अमन-चैन चाहनेवाले सच्चे देशप्रेमियों की जीत है। भाजपा अब नफ़रत से भरी काठ की हांडी फिर से नहीं चढ़ा पाएगी।

राजस्थान के बाद भाजपा के पश्चिम बंगाल से भी निराशा हाथ लगी है। वहां मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस ने विधानसभा सीट पर 63 हजार से ज्यादा वोटों से जीत दर्ज की है।

उपचुनाव के नतीजों से चाणक्य कहे जाने वाले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को सोचने पर मजबूर कर दिया है। उपचुनाव के नतीजों ने आगामी लोकसभा चुनाव के लिए बड़े बदलाव के संकेत दे दिए हैं।

Loading...
loading...