उत्तरप्रदेश निकाय चुनाव के बाद एक बार फिर EVM पर विवाद खड़ा हो गया है। बीएसपी अध्यक्ष मायावती के बाद समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी EVM पर सवाल उठाया है।

अखिलेश ने ईवीएम पर निशाना साधते हुए कहा कि “जहाँ बैलट पेपर से चुनाव हुए वहां बीजेपी सिर्फ 15% सीट जीती और जहाँ ईवीएम से चुनाव हुए वहां 46% बीजेपी को सीटें मिली हैं।”

बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने ईवीएम पर सवाल उठाते हुए कहा कि, “मैं यह दावे के साथ कहती हूं कि 2019 में बैलट पेपर से मतदान हुए तो भाजपा दोबारा सत्ता में नहीं आएगी।”

मायावती ने बैलट पेपर से चुनाव करने की मांग करते हुए कहा कि यदि भाजपा ईमानदार है और लोकतंत्र में विश्वास करती है तो ईवीएम के इस्तेमाल को बंद करे और बैलट पेपर से चुनाव करवाए। अगर भाजपा को विश्वास है कि जनता उनके साथ है तो वे बैलट पेपर से चुनाव को लागू करे।

बता दें, कि निकाय चुनाव के परिणाम आने के बाद सपा बसपा और कांग्रेस से लेकर निर्दलीय उम्मीदवारों तक ने ईवीएम पर सवाल उठाए हैं।

रिजल्ट में यह देखने में आया है कि जिन क्षेत्रों में चुनाव बैलट पेपर से हुआ वहां भाजपा बढ़त नहीं बना सकी। एक निर्दलीय महिला उम्मीदवार को ईवीएम के द्वारा एक भी वोट नहीं मिला जबकि उसने खुद को वोट दिया था!

Loading...
loading...