अमेरिका के कई शहरों में #NotInMyName बैनर के तले लोग सड़कों पर उतर आये। लोगों ने भारत में गौरक्षा के नाम पर हो रही हिंसक घटनाओं के विरोध में USA के वाशिंगटन DC, सैन डिएगो, सैन डोस जैसे बड़े शहरों में प्रदर्शन मार्च निकाला। 23 जुलाई को NewYork में भी ऐसा ही एक मार्च निकाला जाएगा।

एलायंस फॉर जस्टिस एंड अकाउंटनबिलिटी (एजेए) ने भारत में दलितों और मुस्लिमों को लगातार भीड़ द्वारा निशाना बनाये जाने की घटनाओं की निंदा की।

एजीए ने कहा कि “भीड़ द्वारा की जा रही हत्याओं को हिंदू अतिमहत्ववादी समूहों द्वारा बीजेपी की अगुवाई वाली सरकार की तरफ से समर्थन होने की वजह से अंजाम दिया जा रहा है। बीजेपी सरकार में कई केंद्रीय मंत्री भी अल्पसंख्यकों के खिलाफ भड़काऊ बयानबाजी करते है। एजीए ने अमरनाथ तीर्थयात्रियों पर आतंकवादी हमले और बंगाल के बशीरहाट में हुए दंगों की घटनाओं को भी शर्मनाक बताया और इनकी निंदा की।

एसोसिएशन ऑफ इंडियन मुस्लिम इन अमेरिका के अध्यक्ष कालीम ख्वाजा ने कहा कि,’ हिन्दू, मुस्लिम, ईसाई सभी भारत में सैकड़ों सालों से एक साथ मिलकर रह रहे है। भारत में हिंदू धर्म के लोग हिंसा को स्वीकार नहीं करते हैं। लेकिन देश में असामाजिक तत्वों की वजह से कानून व्यवस्था बिगड़ रही है।  भारत सरकार फिर भी कोई कार्रवाई करने से बच रही है। इसी वजह से देश अराजकता की ओर बढ़ रहा है।

इस संगठन ने मांग की कि, भारत सरकार पिछले एक साल में धर्म के नाम पर हुई सार्वजनिक हिंसा की घटनाओं के आरोपियों को सजा दे। भारत के सभी भागों में सांप्रदायिक सौहार्द और शांति बहाल करने के लिए कदम उठाये जाए।

Loading...
loading...