Thursday, Feb 23, 2017
HomeArticle

“आपके विचार,हमारे माध्यम के जरिए”।

कसाब? वो आपके राजनीतिक विरोधी हैं, देश विरोधी नहीं! कितनी नफरत अमित शाह साहेब? कोई हद है इसकी? कि आपने कांग्रेस,

कसाब? वो आपके राजनीतिक विरोधी हैं, देश विरोधी नहीं! कितनी नफरत अमित शाह साहेब? कोई हद है इसकी? कि आपने कांग्रेस,

यूपी चुनाव अपने लेवल पर आ गया है। भाषा के मामले में हमारे नेता उसी क्लास से पढ़कर आए हैं

विकास या बेरोज़गारी-महँगाई जैसे मुद्दों को भुलाकर ज़मीन और बिजली के बहाने कथित धार्मिक भेदभाव को मुद्दा बनाना हिंदू मतदाताओं

मुझे लगा आज प्रधानमंत्री अरुणाचल प्रदेश के पूर्व सीएम के सुसाइड नोट को लेकर कांग्रेस को बिल्कुल नहीं छोड़ेंगे और

कुशीनगर, लखनऊ, कानपुर, मेरठ, बाराबंकी, कन्नौज, लखीमपुर खीरी, हरदोई, बिजनौर, बदायूं, गाजियाबाद सहित कई ज़िलों में प्रधानमंत्री मोदी की रैली

कल मोदीजी की बिजनौर मे रैली के बाद दो जाटों, बाप और बेटा को गोली मार दी गई। ये रंजिश

ट्रोल लगता है कि नोटबंदी के कारण पेमेंट के इंतज़ार में घर बैठ गए हैं। आईटी सेल वालों को लगता

“अपने अन्दर की बुराइयों से लड़ने के लिए वो कष्ट सहने को तैयार है। ” ऐसा कहा था मोदीजी ने।

“हम बहक गए थे। ख़ून सवार हो गया था। अब हम समझ रहे हैं कि 2013 में जो कुछ भी

आज सुबह सुबह बीजेपी उत्तरप्रदेश के फेसबुक पेज पर बीजेपी के इस प्रचार पोस्टर को देखकर चुनावी विज्ञापनों की चालाकी

दिलीप यादव जेएनयू में कई दिनों से भूख हड़ताल पर बैठा है। कई दिनों से भूख हड़ताल के कारण उसे