अमरनाथ यात्रियों पर हुए आतंकी हमले के विरोध में बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के कार्यकर्ताओं ने बुधवार को आगरा में खुलेआम हथियार लहराते हुए प्रदर्शन किया।

बजरंग दल और विहिप के कार्यकर्ताओं ने खुलेआम पिस्तौल, राइफल और तलवारें लहराते हुए प्रदर्शन किया। हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार को अल्टीमेटम देते हुए कहा कि अगर 15 दिन के अंदर आतंकी हमले के गुनाहगारों को नहीं मारा गया तो वे खुद कानून हाथ में ले लेंगे।

बजरंग दल नेता गोविन्द पराशर ने कहा कि अगर अमरनाथ यात्रियों के गुनहगार आतंकियों को 15 दिन के अंदर नहीं मारा गया तो हम श्रद्धालुओं की रक्षा के लिए खुद कानून हाथ में ले लेंगे। पराशर ने कहा कि इसके लिए आगरा से बजरंग दल के कार्यकर्ताओं का एक जत्था अमरनाथ जाकर श्रद्धालुओं की रक्षा करने के लिए तैयार है।

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में अमरनाथ यात्रा के दौरान सोमवार को श्रद्धालुओं पर हुए आतंकी हमले की पूरे देश में हर जगह निंदा हो रही है। इस कायराना हमले में गुजरात के सात श्रद्धालुओं की मौत हो गई और 19 अन्य घायल हैं ।

हमले के विरोध में सभी समुदाय के लोग देश भर में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी कड़ी में बुधवार को बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने आगरा में भी विरोध प्रदर्शन का आयोजन किया। प्रदर्शन के दौरान हिंदू संगठनों के कार्यकर्ता खुलेआम पिस्तौल, राइफल और तलवार लहराते नजर आए। प्रदर्शन में पाकिस्तान मुर्दाबाद जैसे नारे भी लगाए गए।

वहीं, बुधवार को ही हरियाणा के हिसार में भी बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने इस हमले के विरोध में प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान कार्यकर्ताओं ने वहां फल बेचने वाले एक मुस्लिम व्यक्ति को मस्जिद से बाहर निकाल कर थप्पड़ मार दिया।

खबरों के अनुसार प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ताओं ने पहले आतंकवाद के खिलाफ पूतला फूंका और उसके बाद एक मस्जिद के बाहर पहुंच गए। बताया जा रहा है कि इन कार्यकर्ताओं ने मस्जिद में मौजूद मोहम्मद हारुन को जबरन बाहर निकाला और उसे भारत माता की जय बोलने के लिए कहा। इसी बीच भीड़ में मौजूद एक कार्यकर्ता ने हारुन को थप्पड़ मार दिया। बाद में पुलिस ने आकर मामला शांत किया। इस संबंध में पुलिस ने एक मामला भी दर्ज किया है।

तस्वीर साभार- एएऩआई एजेंसी

Loading...
loading...