बंगलुरु के एक होटल का मानना है, हिन्दू और मुस्लिम की शादी नही हो सकती।

भारत के आईटी शहर बंगलुरु के सुधामानगर स्थित ओलिव रेजीडेंसी होटल ने एक कपल को यही दलील देते हुए होटल में रूम देने से मना कर दिया। होटल के लोगों का यकीन करना मुश्किल था कि, हिन्दू-मुस्लिम आपस में शादी कर सकते हैं और इसी बात को लेकर होटल ने हिन्दू-मुस्लिम दंपति को होटल में कमरा देने से साफ़ मना कर दिया।

न्यूज़ मिनट को दिए अपने इंटरव्यू में शफीक सुबैद्दा हक्किम ने बताया कि, जब उन्होंने होटल के रिसेप्शनिस्ट से कमरा न देने कि वजह पूछी तो उनका जवाब था कि क्या पता हिन्दू मुस्लिम कपल कमरे में जाकर खुदखुशी जैसे कदम न उठा लें। शफीक और दिव्या काम के सिलसिले में मंगलवार शाम बंगलुरु पहुंचे थे, जहाँ होटल में रूम बुक करने के लिए जब उन्होंने अपनी आईडी दिखाई तो होटल के रिसेप्शनिस्ट ने दोनों की आईडी देखने के बाद कपल को सवालिया नज़रो से देखा और होटल में रूम देने से इंकार कर दिया।

हालांकि हक्किम ने होटल स्टाफ को यह समझाने की भी कशिश की कि दोनों शादी-शुदा हैं, फिर भी होटल के लोगों ने कपल की एक न सुनी और उन्हें वहां से जाने के लिए कह दिया।

उनके पास ज्यादा सामान नहीं थे

होटल ने अपनी सफाई पेश करते हुए कहा, जब रिसेप्शनिस्ट ने उनके पास बस एक छोटा सा बैग देखा तो उन्हें दपंति पर यकीन नही हुआ कि वो शादीशुदा हैं। रिसेप्शनिस्ट के मुताबिक, शादीशुदा कपल के पास बड़े-बड़े सूटकेस होते हैं। हक्किम पेशे से पत्रकार हैं और दिव्या एरनाकुलम लॉ कॉलेज से पीएचडी कर रही हैं, जो बंगलुरु नेशनल लॉ कॉलेज इंटरव्यू देने आयी थीं।

अभी कुछ दिन पहले ही हैदराबाद में एक अकेली युवती को सिंगल होने की वजह से एक होटल ने कमरा देने से मना कर दिया था।

Loading...
loading...