भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने पकौड़े वाले बयान पर प्रतिक्रिया दी। राज्यसभा में बोलते हुए शाह ने कहा कि, बेरोजगारी से बेहतर है युवा पकौड़े बेचे।

इस पर जेएनयूएसयू के पूर्व अध्यक्ष मोहित पाण्डेय ने लिखा कि,

अमित शाह जब बेरोजगारी की समस्या का मजाक उड़ा रहे थे, उसी समय काँठ (मुरादाबाद) में BEd पास एक नवयुवक ने फाँसी लगाकर जान दे दी।

तिलकराज जैसे लाखों युवा आज सरकार की तरफ रोजगार खड़ा करने की आस लगाकर बैठे हैं। लेकिन मिल क्या रहा है मजाक!

Loading...
loading...