सत्ता में आने से पहले बीजेपी जिस कालेधन को लाने की बात करती थी आज उसी बीजेपी के नेता कालेधन के साथ पकड़े जा रहे है।

ताज़ा मामला मध्यप्रदेश के भोपाल से सामने आ रहा है, जहाँ भाजपा के रसूखदार नेता सुशील बासवानी के घर आयकर विभाग ने कालाधन ढूंढ निकाला है।

सुशील बासवानी भाजपा नेता होने के साथ साथ आवास संघ के पूर्व अध्यक्ष एवं महानगर सहकारी बैंक के संस्थापक भी है। बताया जा रहा है कि, नोटबंदी के दौरान उन्होंने अपनी 10 करोड़ की काली संपत्ति को नए नोटों में बदल लिया था जिसे आयकर विभाग ने ढूंढ निकाला है। विभाग ने बेनामी एक्ट के तहत कार्यवाही दर्ज की है।

बता दें कि, राज्य सड़क परिवहन निगम में बस कंडक्टर से अपने करिअर की शुरुआत करने वाले सुशील अब बीजेपी के रसूखदार नेता है। इससे पहले नोटबंदी के दौरान उनके सहकारी बैंक में आयकर ने छापेमारी करवाई थी जिसके बाद से ही उनकी संपत्ति की जाँच चल रही थी।

Loading...
loading...