मौजूदा हालात में एक तरफ जहाँ सेना के जवानो का हवाला देकर सरकार की तमाम नाकामियों से उपजी परेशानियों को चुपचाप बर्दाश्त करने की बात कही जा रही है वहीँ दूसरी तरफ केंद्र सरकार द्वारा जवानों के साथ की जा रही नाइंसाफी पर कोई बात करने करने के लिए न तो मीडिया राज़ी है और न ही आम लोग है।

बहरहाल, सेना के नाम चली फर्जी देशभक्ति की आंधी के बीच आज जम्‍मू-कश्‍मीर में बर्फीली पहाड़ियों पर तैनात कथित तौर पर एक बीएसएफ जवान का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है।

तेज बहादुर यादव नाम की प्रोफाइल से अपलोड किए गए इस तरह के तीन वीडियो में बीएसएफ की 29वीं बटालियन का सदस्‍य क्लेम करते हुए बोर्डर पर तैनात जवानों की परेशानियाँ और अन्याय बयाँ कर रहें हैं। वहीँ दूसरे वीडियो में खाने और नाश्ते की घटिया क्‍वालिटी दिखाई गई है।

क्या कह रहें हैं तेज बहादुर यादव

देशवासियों मैं आपसे एक अनुरोध करना चाहता हूं। हम लोग सुबह 6 बजे से शाम 5 बजे तक, लगातार 11 घंटे इस बर्फ में खड़े होकर ड्यूटी करते हैं। कितना भी बर्फ हो, बारिश हो, तूफान हो, इन्‍हीं हालातों में हम ड्यूटी कर रहे हैं। फोटो में हम आपको बहुत अच्‍छे लग रहे होंगे मगर हमारी क्‍या सिचुएशन हैं, ये न मीडिया दिखाता है, न मिनिस्‍टर सुनता है।

कोई भी सरकार आईं, हमारे हालात वहीं हैं। मैं इस के बाद तीन वीडियो भेजूंगा जिसको मैं चाहता हूं कि आप दिखाएं कि हमारे अधिकारी हमारे साथ कितना अत्‍याचार व अन्‍याय करते हैं।

हम किसी सरकार के खिलाफ आरोप नहीं लगाना चाहते। क्‍योंकि सरकार हर चीज, हर सामान हमको देती है। मगर उच्‍च अधिकारी सब बेचकर खा जाते हैं, हमारे को कुछ नहीं मिलता। कई बार तो जवानों को भूखे पेट सोना पड़ता है।

मैं आपको नाश्‍ता दिखाऊंगा जिसमें सिर्फ एक पराठा और चाय मिलता है, उसके साथ अचार नहीं होता। दोपहर के खाने की दाल में सिर्फ हल्‍दी और नमक होता है, रोटियां भी दिखाऊंगा। मैं फिर कहता हूं कि भारत सरकार हमें सब मुहैया कराती है, स्‍टोर भरे पड़े हैं मगर वह सब बाजार में चला जाता है। इसकी जांच होनी चाहिए।

पीएम मोदी से अपील 

मैं प्रधानमंत्री से कहना चाहता हूं कि इसकी जांच कराएं। दोस्‍तों यह वीडियो डालने के बाद शायद मैं रहूं या न रहूं। अधिकारियों के बहुत बड़े हाथ हैं। वो मेरे साथ कुछ भी कर सकते हैं, कुछ भी हो सकता है।

Tag- #BSF #Soldier #Video #Viral #SocialMedia