नई दिल्ली। बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने पीएम मोदी के ‘यूपी का दत्तक पुत्र’ वाले बयान पर प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि सत्ता पर काबिज़ होने के लिए मोदी जी यूपी की जनता को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन जनता उनके नाटक को बाखूबी पहचानती है।

फतेहपुर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मायावती ने कहा कि पीएम मोदी यूपी में अपनी पार्टी को जिताने के लिए खुद को उत्तर प्रदेश का दत्तक पुत्र बताने की कितनी भी नाटकबाजी कर लें, लेकिन जनता इनको आशीर्वाद नहीं देने वाली, यहां की जनता तो हाथी के साथ है।

बीजेपी की वादाखिलाफियों का ज़िक्र करते हुए मायावती ने कहा कि केंद्र में बीजेपी की सरकार बनने पर 100 दिन में काला धन लाकर सबको 15 लाख देने का वादा किया था। क़र्ज़ में डूबे किसानों का कर्जा माफ़ करने का वादा किया था।  क्या बीजेपी ने अपना कोई भी वादा पूरा किया? किसानों का एक भी रुपया माफ हुआ?

पीएम मोदी और विजय माल्या के संबंध पर तंज़ करते हुए मायावती ने कहा कि मोदी ने सिर्फ एक काम किया है। अपने शराब बेचने वाले दोस्तों को हज़ारो करोड़ का फायदा पहुंचाया है और उनके पैसे के दम पर 2014 की तरह यूपी में भी सरकार बनाने जा सपना देख रहे हैं जिसे आपको पूरा नहीं होने देना है।

आरक्षण के मुद्दे पर चिंता जताते हुए मायावती ने कहा कि बीजेपी अगर सत्ता में आ गई तो मौका पाते ही या तो आरक्षण ख़त्म कर देगी या कमजोर कर देगी। हमारी पार्टी स्वर्ण जाति के गरीबों को भी आरक्षण के पक्ष में है। 16 अति पिछड़ी जातियों को भी हम अनुसूचित जाति में शामिल करने के पक्ष में रहे हैं।

उन्होंने कहा कि बीजेपी के लोग यूपी का लॉ एंड आर्डर सुधारने का दावा कर रहे हैं। जबकि इनसे छोटी सी दिल्ली नहीं संभाली जा रही। तो फिर इनसे इतना बड़ा राज्य कैसे संभाला जाएगा। यहां तो हालात और भी ख़राब हैं।

ट्रिपल तलाक और समान नागरिक संहिता का ज़िक्र करते हुए बीएसपी सुप्रीमो ने कहा कि हमारी पार्टी ट्रिपल तलाक और समान नागरिक संहिता में हस्तक्षेप के पक्ष में नहीं है।

#BSP Supremo #Mayawati #Fatehpur #BJP #PM Modi #Adopted Son Remark

Loading...
loading...