उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान सूबे को दंगामुक्त बनाकर उत्तम प्रदेश बना देने का वादा करने वाली भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) निशाने पर है। कभी सत्ता संभाले एक महीना पूरा नहीं हुआ है सूबे में सांप्रदायिक दंगे होने शुरू हो गए हैं।

कल सहारनपुर में अंबेडकर जयंती पर शोभा यात्रा निकालने पर अड़े बीजेपी नेताओं ने सारी हदें पार कर दी। क्योंकि प्रशासन की अऩुमति के बगैर यात्रा निकालने पर ठने बीजेपी सांसद व विधायकों ने पुलिस प्रशासन को भी नहीं बख्शा।

काफी पथराव व लाठी-डंडे चले। एसएसपी के घर को तोड़-फोड़ दिया गया। पुलिस वालों को घायल कर दिया गया।

बाद में सहारनपुर प्रशासन ने बीजेपी सांसद सहित 500 लोगों पर एफआईआर दर्ज की। पर सत्ता जिसकी उसकी पार्टी के नेता उसके प्रशासन की नहीं सुन रहे हैं। अपने ही प्रशासन पर पथराव कर रहे हैं। क्या यही बीजेपी का दंगामुक्त प्रदेश ?  क्या ऐसे ही बनेगा उत्तम प्रदेश ?

इसका जवाब न सरकार के पास है ना ही प्रधानमंत्री मोदी के सांसद के पास। जो खुद ईट-पत्थर बरसाने के लिए आगे-आगे भीड़ की अगुवाही कर रहे थे।

अभी पूरे पांच साल हैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सामने अपने नेताओं से निपटने के लिए क्या-क्या प्लान है देखना अभी बाकी है। लेकिन योगीराज में पहला सांप्रदायिक दंगा बन गया सहारनपुर दंगा।

Loading...
loading...