हिमाचल के साथ गुजरात विधानसभा चुनाव का एलान न होना अब सवाल बन गया है। सवाल एक स्वतंत्र आयोग की निष्पक्षता पर उठ रहा है।

कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी ने सवाल उठाया है, उन्होंने कहा कि, चुनाव आयोग ने गुजरात चुनाव क्यों टाला, कौन तैयार नहीं था, आयोग या भाजपा  ?

पिछली बार भी चुनाव आयोग ने हिमाचल और गुजरात चुनाव की तारीखों का एलान एकसाथ किया था। लेकिन इस बार हिमाचल चुनाव की तिथियों का एलान कर दिया गया।

गुजरात चुनाव के एलान को टाल दिया गया है। इसकी मुख्य वजह 16 अक्टूबर को पीएम मोदी की गुजरात रैली को बताया जा रहा है।

कांग्रेस ने खुलकर आरोप लगाया है। इसके अलावा तमाम राजनीतिक संगठन इसपर जोरदार हमला बोल रहे हैँ।

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भी चुनाव आयोग की मंशा पर सवाल उठाया है।

दरअसल चुनाव आयोग की विश्वनियता बने रहना भी काफी जरूरी है। क्योंकि अगर स्वतंत्र बॉडी भी सरकार के दवाब में काम करेंगी तो लोकतंत्र के खतरें ज्यादा बढ़ जाएंगे।

Loading...
loading...