देश की सबसे पुरानी पार्टी ‘कांग्रेस’ कभी भारतीय राजनीति का विशालकाय बरगद हुआ करती थी लेकिन 2014 के लोकसभा चुनाव में उठे मोदी लहर ने इस पार्टी को कही गुम सा कर दिया था। जिस पार्टी ने देश को सबसे ज्यादा प्रधानमंत्री दिए हो उस पार्टी के इतने बुरे दिन आ गए थें कि वो अपनी राजनीतिक जमीन बचाने के लिए कड़ी मशक्कत कर रही थी।

लेकिन अब ऐसा लग रहा है मानो कांग्रेस का राजनीतिक वनवास खत्म होने वाला है। ऐसा अंदाजा इसलिए लगाया जा रहा है क्योंकि सत्ताधारी बीजेपी के तानाशाही रवैये ने जनता को चोट पहुंचाई हैं जिसके छोटे-छोटे परिणाम कई राज्यों से नजर आने लगे हैं।

ये भी पढ़ें- मर्यादा भूले PM मोदी, बोले- कांग्रेस विकास पर भौंकती है, लोग बोले- ये PM की भाषा है या गली के गुंडे की ?

वैसे भी कांग्रेस का तो कमबैक करने का इतिहास रहा है। इमरजेंसी के बाद कांग्रेस को 1977 के चुनावों में करारी शिकस्त मिली थी। कांग्रेस को सिर्फ 154 सीटें मिलीं। कांग्रेस का वोट शेयर घटकर 35 प्रतिशत के नीचे चला गया। जनता पार्टी और गठबंधन को 542 में से 330 सीटें मिलीं।

इस चुनाव में खुद प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी भी अपनी सीट से हार गई थी, भारतीय इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ था जब कोई प्रधानमंत्री चुनाव हार गया हो। अब लोगों को लगा की कांग्रेस हमेशा के लिए खत्म हो गई…

लेकिन शासन करने में पारंगत हासिल कर चुके कांग्रेस ने सबको हक्का बक्का कर दिया मात्र 22 महिने बाद जनवरी 1980 में फिर चुनाव कराए गए और इस बार कांग्रेस ने प्रचण्ड बहुमत से सत्ता में वापसी की, जनता पार्टी को करारी शिकस्त मिली। खासतौर से उत्तर भारत में जहां पर 1977 के चुनावों में उन्होंने कांग्रेस का सूपड़ा साफ कर दिया था। कांग्रेस को इस बार 353 सीटें मिलीं।

ये भी पढ़ें- UN में पाकिस्तान को नीचा दिखाने के लिए BJP ने कांग्रेस के 70 साल के कामों का लिया सहारा, राहुल बोले- कांग्रेस की तारीफ के लिए शुक्रिया

शायद इस बार भी कुछ ऐसा ही कमाल करने की चाहत में है कांग्रेस। पिछले कुछ महिनों में कांग्रेस का ग्राफ अच्छा हुआ है। हाल ही में पंजाब के गुरदासपुर लोकसभा उपचुनाव में कांग्रेस ने भारी जीत दर्ज की। इस चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी सुनील जाखड़ ने 1,93,219 वोटों से जीत हासिल की। उन्होंने भाजपा कैंडिडेट सवर्ण सलारिया को मात देकर चुनाव में जीत दर्ज की।

यह चुनाव बीजेपी के लिए निराशजनक रहा लेकिन कांग्रेस के लिए संजीवनी साबित हुआ क्योंकि गुरदासरपुर सीट भाजपा का गढ़ माना जाता रहा है। गुरदासपुर लोकसभा सीट पर भाजपा के टिकट से विनोद खन्ना लगातार तीन बार सांसद चुने गए थे।

इस लिहाज से बीजेपी को चुनावी नतीजे से भारी निराशा हुई। इस उपचुनाव में सुनील जाखड़ को 4, 99,752 वोट मिले तो भाजपा के सवर्ण सलारिया को 3,06,533 वोट हासिल हुए।

ये भी पढ़ें- मोदी और अरुण जेटली ने हिंदुस्तान की अर्थव्यवस्था को तबाह कर दिया है, ये सच्चाई है : राहुल गांधी

गुरदासपुर से पहले कुछ ऐसे ही नतीजे आए महाराष्ट्र के नांदेड़ में हुए नगर निकाय चुनाव में। कांग्रेस ने यहां शानदार प्रदर्शन करते हुए 81 में से 73 सीटों पर जीत दर्ज की और बीजेपी को महज 6 सीटों पर निपटा दिया। वहीं शिवसेना मात्र एक सीट के साथ अपना खाता खोल पाई। इससे यह कहा जा सकता है कांग्रेस अब बीजेपी के भगवा रथ को लगाम लगाने में सफल हो रही है।

साउथ के राज्य में भी कांग्रेस अपना दबदबा बनाए रखने में सफल ही नजर आ रही है क्योंकि यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रट के उम्मीदवार केएन खादेर ने वेंगरा विधानसभा उपचुनाव में जीत हासिल की। ये जीत कांग्रेस की अगुवाई वाली यूडीएफ के लिए संजीवनी से कम नहीं है।

जिस सोशल मीडिया ने बीजेपी के लिए सत्ता का रास्ता आसान किया था, अब वही सोशल मीडिया कांग्रेस को जीवनदायी बन रही है। कांग्रेस सोशल मीडिया पर तेजी से मजबूत हो रही है। राहुल गांधी समेत कांग्रेस के तमाम वरिष्ठ नेता बीजेपी की नीतियों को आड़े हाथ ले रहे हैं जिससे जनता के बीच कांग्रेस की एक ताकतवर विपक्ष की छवि बन रही है।

ये भी पढ़ें- मोदी जी, 22 सालों से गुजरात में जुमलेबाजी कर रहे हैं अब जाकर 2022 में गरीबी मिटाएंगे : राहुल गाँधी

सोशल मीडिया पर काग्रेस द्वारा चलाए गए हैसटैग अभियान में आम जनता से लेकर बड़े-बड़े नेता अभिनेता तक रूचि ले रहे हैं। कांग्रेस ने लगातार कई हैसटैग काफी मशहुर रहें जैसे- #vikasgandothayo, #vikasgandothayo, #बदतमीज़_विकास ?, #Vikas_ગાંડો_થયો_છે, #VikasGoneCrazy. सभी राजनीतिक पार्टियां सोशल मीडिया पर कांग्रेस के अभियान को खास तवज्जों देने लगी हैं। ऐसी स्थिति एक साल पहले नहीं थी।

कांग्रेस के ट्विटर हैंडल पर फॉलोअर्स की संख्या तेजी से बढ़ रही है, इस वक्त फॉलोअर्स की संख्या 2.75 मिलियन है। साथ कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के ट्विटर हैंडल पर भी फॉलोअर्स की संख्या में बड़ा उछाल आया है। इस वक्त राहुल गांधी के फॉलोअर्स की संख्या 3.76 मिलियन है।

Loading...
loading...