गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने अपना घोषणापत्र जारी कर दिया है। घोषणापत्र में कांग्रेस ने राज्य की मूल समस्याओं को लेकर वादें किये है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भरतसिंह सोलंकी, प्रभारी व पूर्व सीएम अशोक गहलोत तथा प्रदेश महासचिव दीपक बाबरीया ने राजीव गांधी भवन पर कांग्रेस का चुनावी घोषणा पत्र जारी किया।

घोषणापत्र जारी करते हुए कहा गया कि, गुजरात सरकार निजीकरण व औद्योगिकरण में रची बसी है उसे आम आदमी की खुशियों की परवाह नहीं है इसलिए कांग्रेस विकास के आंकडों के बजाए यूरोपियन व अमरीकी देशों की तरह हैप्पीनेस गुजरात के मॉडल पर काम करेगी।

कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में तीन अहम मुद्दे डाले हैं। पहला मुद्दा किसानों के बारे में, दूसरा युवाओं के रोज़गार के बारे में और तीसरा बड़ा मुद्दा महिलाओं के बारे में है।

कांग्रेस ने आरोप लगाया कि पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकारों ने राज्य में स्कूल, अस्पताल, आईआईएम, अमूल डेयरी, जीआईडीसी, हाउसिंग बोर्ड, कॉलेज विश्व विद्यालय, सहकारी मंडलियां, टेक्सटाइल्स, डायमंड, फार्मा, डाईज उद्योग को स्थापित किया बाद की सरकारों ने इनके विकास पर ध्यान नहीं दिया।

गुजरात के लिए कांग्रेस के वादें :

  • किसानों का क़र्ज़ माफ़
  • किसानों को 16 घंटे बिजली, मुफ़्त पानी
  • कपास, मूंगफली के किसानों को बोनस
  • बेरोज़गार युवाओं के लिए 32000 करोड़ का फ़ंड
  • युवाओं को 4000 रुपये बेरोज़गारी भत्ता
  • खाली पड़े सरकारी पद भरे जाएंगे
  • मुफ़्त प्राथमिक और उच्च शिक्षा
  • हर महिला का अपना घर होगा
  • महिलाओं के लिए पिंक ट्रांसपोर्ट व्यवस्था
  • ऊना थानगढ की जांच को एसआईटी
  • अनुच्छेद 31, 46 के तहत पाटीदार व अन्य को आरक्षण
  • पेट्रोल डीज़ल 10 रुपए सस्ता
  • मज़बूत लोकायुक्त
  • मेधावी छात्रों को लेपटॉप, स्मार्ट फोन
  • राजकोट, वडोदरा को हाईकोर्ट बेंच
  • ऑटो रिक्शा ड्राइवर कलयाण बोर्ड
  • महिला अपराध पर फास्ट ट्रेक कोर्ट
  • गौचर जमीन का संरक्षण
  • गरीब, मध्य-श्रेणी के छात्रों के लिए पूर्व-प्राथमिक से पीएचडी तक मुफ्त शिक्षा
  • छोटे व्यापारियों के लिए जीएसटी में छूट

 

Loading...
loading...