कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर की गई “नीच” वाली टिपप्णी पर राहुल गांधी ने एक अच्छी राजनीति की मिसाल पेश की। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने ट्वीट करके मणिशंकर अय्यर को पीएम मोदी से माफ़ी मांगने को कहा है।

राहुल गाँधी ने ट्वीट करके कहा “बीजेपी और पीएम मोदी कांग्रेस पर हमला करने के लिए लगातार ख़राब भाषा का इस्तेमाल करते हैं। कांग्रेस की अलग संस्कृति और विरासत है।

मैं मणिशंकर अय्यर द्वारा पीएम के लिए इस्तेमाल की गई भाषा और लहजे की निंदा करता हूँ। कांग्रेस और मुझे लगता है कि मणिशंकर ने जो भी कहा उन्हें अपने बयान के लिए माफ़ी मांगनी चाहिए।”

गुरुवार को गुजरात विधानसभा के पहले चरण का प्रचार खत्म हो रहा है। ऐसे वक़्त में मणिशंकर अय्यर का पीएम मोदी को लेकर बयान देना बहुत बड़ा सवाल खड़ा करता है!

इससे इनकार नहीं किया जा सकता कि मणिशंकर ने भाजपा को कांग्रेस के खिलाफ बोलने का मौका दिया है। अय्यर के बयान के बाद सियासी गलियारों में आए भूचाल को देखते हुए कांग्रेस ने उनसे किनारा कर लिया।

कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही पार्टियाँ अब प्रेस कांफ्रेंस करके एक दूसरे पर हमले कर एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं।

बीजेपी के कांग्रेस को दलित विरोधी बताए जाने पर कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि पीएम मोदी ने मनमोहन वैद्य और संघ प्रमुख मोहन भागवत के आरक्षण खत्म करने के सुझाव पर दोनों के बयान का खंडन क्यों नहीं किया?

Loading...
loading...