राज्यसभा चुनाव के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने जैसे ही बीजेपी पर हमला बोला है वैसे ही बीजेपी के सारे बड़े नेता एक के बाद एक सपा और बसपा पर हमला बोलने लगे।

प्रदेश के राज्यसभा चुनाव में भाजपा ने 9वां उम्मीदवार उतारकर राज्यसभा सीट तो जीत ली मगर सपा और बसपा की बढ़ती करीबी को तोड़ने में विफल रहे।

यही वजह रही जब कल राज्यसभा चुनाव के नतीजे सामने आये तब सीएम योगी ने अखिलेश यादव पर तंज करते हुए कहा कि समाजवादी पार्टी सिर्फ दूसरों से ले सकती है कभी दूसरों को दे नहीं सकती है।

वहीं मायावती ने इसपर करारा जवाब देते हुए कहा कि, बीजेपी में हडकंप मचा हुआ था कि दोनों दल एक साथ कैसे हो गए हैं ।

आज उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने भाषाई स्तर से गिरते हुए अखिलेश यादव पर विवादित बयान दे दिया। जिसे कहीं से भी राजनैतिक नहीं कहा जा सकता है।

केशव ने अखिलेश यादव पर उनके पारिवारिक मामले पर टिप्पणी करते हुए कहा कि, जो अपने पिता और चाचा के नही हुए तो मायावती जी के क्या होंगे.

आपको बता दें कि, आज मायावती की प्रेस कांफ्रेस के बाद सपा-बसपा गठबंधन पर तस्वीर काफी साफ हो गई है। दोनों दल सहमति का मन बना चुके हैं। सिर्फ मुहर लगना बाकी है। इस कारण सत्तारूढ़ भाजपा में खलबली मची है।

Loading...
loading...