समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने देश और प्रदेश की भाजपा सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरने का ऐलान किया है। इसके लिए ऐतिहासिक तारीख 9 अगस्त का दिन चुना गया है। गांधी जी ने वर्ष 1942 में 9 अगस्त को ही अंग्रेज़ों के ख़िलाफ़ ‘भारत छोड़ो’ आंदोलन की शुरुआत की थी।

सपा ने भी प्रदेश भर में 9 अगस्त को देश बचाओ, देश बनाओ’ रैली आयोजित कर भाजपा की नितियों के खिलाफ आंदोलन शुरू करने का फैसला किया है। अखिलेश यादव खुद राम की नगरी अयोध्या से इस आंदोलन की अगुवाई करेंगे।

पूरे आंदोलन का खाका तैयार हो चुका है। प्रदेश के सभी 75 जिलों में एक साथ 9 अगस्त को रैली आयोजित की जाएगी। पार्टी के सभी नेताओं को जिम्मेदारी दे दी गई है। कौन किस रैली में रहेगा, यह तय हो चुका है। मिली जानकारी के अनुसार, अखिलेश यादव ने अपने लिए अयोध्या की धरती को चुना है। दिलचस्प है कि मुख्यमंत्री की कुर्सी संभालने के बाद योगी आदित्यनाथ अब तक दो बार अयोध्या का दौरा कर चुके हैं।

समाजवादी पार्टी ने अपराध के आंकड़ों, किसानों की क़र्ज़ माफ़ी, बेरोजगारी, बिजली और भ्रष्टाचार जैसे मुद्दों पर केंद्र की मोदी सरकार और प्रदेश की योगी सरकार को घेरने की पूरी तैयारी कर ली है।

पार्टी नेताओं का कहना है कि लोकतंत्र में तानाशाही के विरोध में अब पार्टी सड़कों पर उतरेगी। प्रदेश में बेरोजगारी, बढ़ते अपराध, बिजली की समस्या ऐसे कई मुद्दे हैं जिनपर योगी सरकार विफल साबित हुई। पार्टी नेताओं ने कहा कि भाजपा सरकार चलेना के बजाय विपक्षी दलों के नेताओं को तोड़ने में लगी है।

Loading...
loading...