पूरी दुनिया में फ़ेक न्यूज का चलन बहुत ज्यादा बढ़ गया है। तमाम देशों में इस फ़ेक न्यूज को रोकने के लिए सरकारें सख्त कदम उठा रही हैं। ज्यादातर सोशल मीडिया पर फैलाए जा रहे इस फ़ेक कचड़े से निपटने के लिए गूगल भी तैयारी कर रहा है।

राजनीतिक पार्टियां के लिए संजीवनी बन चुकी फ़ेक न्यूज आम लोगों के लिए न्यूज से बड़ा माना जाने लगी है। एऩडीटीवी के एंकर रवीश कुमार ने भी प्राइम टाइम करके देश में बढ़ते फ़ेक न्यूज के दायरे पर लोगों को सचेत किया है।

उन्होंने कहा कि, न्यूज से बड़ी होने लगी है फ़ेक न्यूज, यही फ़ेक न्यूज भीड़ तैयार करती हैं। जो पूरे देश में लोगों की हत्याए कर रही है। कभी गौरक्षा के नाम तो कभी बच्चा चोरी की अफवाह पर। फ़ेक न्यूज राजनीतिक पार्टियों के लिए वरदान बन चुकी है।

हाल में बंगाल सांप्रदायिक हिंसा के दौरान तमाम भाजपा नेताओं ने सांप्रदायिक पोस्ट औऱ फ़ेक खबरें फैलाई थी। जिसके बाद फ़ेक न्यूज के सहारे दंगा भड़काने व सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने पर चर्चाएं शुरू हुई।

Loading...
loading...