नई दिल्ली। वाजपेयी सरकार में मंत्री रहे अरुण शौरी ने एक इंटरव्यू में पीएम मोदी पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि मोदी सोशल मीडिया पर गाली गलौज करने वाले ट्रॉल को प्रोत्साहित करते हैं।

अंग्रेज़ी न्यूज़ वेबसाइट द वायर को दिए इंटरव्यू में शौरी ने कहा कि सोशल मीडिया पर दूसरों से गाली गलौज करने वालों को मोदी न सिर्फ प्रोत्साहित करते हैं बल्कि उन्हें पीएम हाउस बुलाकर मुलाकात भी करते हैं। मुलाकात के बाद जितने भी ट्रॉल हैं सभी ने मोदी के साथ अपनी-अपनी फोटो भी डाली है।

शौरी ने आगे कहा कि उन ट्रॉल में से किसी एक शख्स को बीजेपी आईटी सेल का प्रमुख भी बना दिया गया। इससे साफ जाहिर होता है कि ये गाली गलौज करवाना मोदी सरकार और बीजेपी का ऑपरेशन है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने वर्ष 2014 में पीएम मोदी को दिए समर्थन को अपनी जिंदगी की दूसरी सबसे बड़ी गलती बताया है। उन्होंने कहा कि राजीव गांधी के खिलाफ वीपी सिंह का समर्थन करना उनके जीवन की पहली सबसे बड़ी गलती थी तो वर्ष 2014 में मोदी का समर्थन करना जीवन की दूसरी सबसे बड़ी गलती थी।

अरुण शौरी के इस बयान को लेकर ट्विटर पर कई यूजर्स ने उन पर निशाना साधा है। कई यूजर्स ने कहा कि वह जल्द ही आम आदमी पार्टी में जा सकते हैं। वहीं कुछ ट्विटर यूजर्स उनके समर्थन में भी नजर आए। बता दें कि अरुण शौरी को पहले भी सोशल मीडिया पर निशाना बनाया जा चुका है।

Tag- #Arun Shourie, #former minister, #PM Modi, #BJP, #social media trolls