सामाजिक न्याय के लिए एक बार फिर बिगुल बजेगा। इस बिगुल को फूंकने एक बार फिर पाटीदार नेता हार्दिक पटेल सड़कों पर निकलेंगे। बात 17 जनवरी की हो रही है।

इस दिन 3 लाख पाटीदार युवा अपने नेता यूथ आइकॉन हार्दिक पटेल के नेतृत्व में गुजरात-राजस्थान बॉर्डर पर सामाजिक न्याय की लड़ाई लड़ेगें। गुजरात सहित तमाम राज्यों में आरक्षण की धार को तेज करने वाले हार्दिक पटेल एक बार फिर बीजेपी सरकार व पीएम मोदी की बैचेनी बढ़ाएंगे।

यह युवा पाटीदार महाक्रांति रैली 17 जनवरी को गुजरात-राजस्थान के रतनपुर बॉर्डर पर आयोजित की जाएगी। जिसके लिए गुजरात के गांव-गांव में अभी से प्रचार होने लगा है।

आपको बता दें कि, 6 जुलाई 2015 को इससे पहले भी गुजरात के कई हिस्सों में पाटीदार आंदोलन की धमक सुनाई दी थी। जो काफी हिंसक भी रहा था। लाखों की तादात में गुजरात की सड़कों पर निकले पाटीदार समाज के लोग आरक्षण की मांग को लेकर एक हो गए।

जिस कारण अहमदाबाद,राजकोट जैसे इलाके में भारी तनाव की स्थिती भी बनी रही। लेकिन एक बार फिर पाटीदारों की सामाजिक न्याय की मांग को हार्दिक पटेल महाक्रांति रैली करने जा रहे ह़ै।

 

Tag – #HardikPatel #PmModi #Gujarat-RajasthanBorder #Reservation #BJP