कासगंज शहर से बीस किलोमीटर दूर जिस ईदगाह की दिवार और मिनार अराजकतत्वों ने तोड़ दी थीं उसे बनवाने की ज़िम्मेदारी स्थानीय हिंदुओं ने अपने हाथों में ली और नफरत पसंदों को मुंह तोड़ जवाब दिया।

ईदगाह की मिनार तोड़ने वालों को खुद हिंदुओं ने जवाब दे दिया। नफरत के सौदागरों को अब मुंह छुपाने की जगह नहीं मिल रही।

कन्नौज के तेराजकोटा में कुछ असामाजिक तत्वों ने मंदिर की मूर्तियां खंडित कर दीं। नई मूर्तियों के लिए चंदा वहां के मुसलमानों ने दिया और फिर से मूर्ति स्थापित हो गईं। सांप्रदायिक सौहार्द की ऐसी मिसालें कायम होने लग जाएं तो कट्टरपंथियों की नींद हराम हो जाएगी।

मोहम्मद अनस ( पत्रकार)

कासगंज से 20km दूर अराजक तत्वों द्वारा तोड़ी गई ईदगाह की दीवार व मीनार बनवाने की जिम्मेदारी स्थानीय हिंदुओं ने अपने हाथों में ली तो कन्नौज के तेराजकोटा में अराजक तत्वों द्वारा खंडित मूर्तियों हेतु मुसलमानों ने चंदा कर पुनर्स्थापित करा कर सांप्रदायिक लंपटों के मुंह पर तमाचा मारा।

 

 

Loading...
loading...