जब से मोदी सरकार से महंगाई, घटते रोजगार, मंदी, विकास, जैसे प्रश्न अलग-अलग मंचो से लोगो ने पूछने शुरू कर दिए है ( और दूसरी तरफ सरकार से जवाब देते नही बन रहा) तब से सोशल मीडिया में ऐसे मैसेज की बाढ़ सी आना शुरू हो गयी है कि संभलो नहीं तो मुसलमानों का कब्ज़ा हो जाएगा , देश पाकिस्तान बन जाएगा ।

मेरे पास ऐसे ऐसे जान पहचान के लोगो के द्वारा ये संदेश शेयर किए जा रहे है जिनका राजनीति से दूर दूर तक भी कोई लेना देना नही है. लेकिन वो भी ये संदेश शेयर कर रहे है इससे जाहिर है उनके पास भी ऐसे मैसेज आये होंगे.

कौन है ये लोग जो ऐसे एक जैसे मैसेज फैला कर लोगो का ध्यान दूसरी तरफ भटकाना चाहते है.कौन है ये लोग जो हिन्दुओ के दिलो में ये डर फैलाना चाहते है कि अगर मोदी का साथ ( साथ मतलब आंख बंद कर के रहना) नहीं दोगे तो ये मुसलमान तुमको खा जाएंगे!! निगल जाएंगे.!! फिर से एक और पाकिस्तान बन जायेगा!!

ये डराना क्यूँ चाहते है..इस डराने के पीछे कही इनका असल सवालों से बचकर रहना तो नही? लोग प्रश्न कुछ और पूछते है लेकिन ये हर बात में हिन्दू मुसलमान बीच मे क्यूँ ले आते है?

85 % बहुसंख्यको को 14%अल्पसंख्यकों से आखिर खतरा है किस बात का ?

तीन रोज़ पहले मैं ट्रेन से वापस दिल्ली आ रहा था वहां एक सज्जन भी हूबहू यही मैसेज दुहरा रहे थे कि हिन्दुओ इकठ्ठे हो जाओ और मोदी जी के हाथ मजबूत करो.मैंने पूछा भाई और कितने हाथ मजबूत करें? केंद्र में पूर्ण बहुमत की सरकार है, देश में जम्मू कश्मीर समेत कई राज्यो में इनकी अपनी सरकारे है.और कितने हाथ मजबूत करना चाहते हो ? अब क्या इनको अमेरिका का राष्ट्रपति भी बना दे ?

अब ये हाथ और मजबूत कैसे होंगे मुझे कोई ये समझा दे.

बचपन मे आपातकाल के दौरान 1976 में आरएसएस के शाखाओं में जाया करता था वहां हिन्दुओ की घटती आबादी और मुसलमानो की बढ़ती आबादी को लेकर ये लोग चिंता में घुले जाते थे .ये स्यापा 2017 में भी करते है कि ये मुसलमान 5 पांच बच्चे पैदा करते है अरे हिन्दुओ देख लेना 30 साल बाद एक और पाकिस्तान बनेगा .इसलिए तुम भी ज्यादा से ज्यादा बच्चे पैदा करो.

अभी 2011 के जनगणना के अनुसार जिस अनुपात में हिन्दुओ और मुसलमानों की आबादी बढ़ रही है उसके हिसाब से अगले 175 साल बाद भी हिन्दू मुसलमानो से आबादी में तीन गुना अधिक ही रहेंगे. हिन्दुओ की आबादी 32%और मुस्लिमो की 38 % बढ़ने के बावजूद भी .लेकिन इस पर कोई कुछ नही कहता.बस ये फार्मूला आम लोगो मे अच्छी तरह से बिठा दिया गया है कि वो तुमको खा जाएंगे!!

नफरत और भय की राजनीति करते है लोगो को इतिहास की गलत जानकारियाँ दे गुमराह करते हैं, क्यों? क्योंकि इनका अपना इतिहास कोई उजला नही.

ये डराना बन्द करो भाई असल मुद्दों की तरफ आओ .आम लोगो की परेशानियों को समझो उनका कुछ सोचो ना कि चंद उद्योगपतियो का!! ये देशभक्ति का राग अलापना बन्द करो .कोई खतरा नही देश को. कोई महमूद गजनवी नही आने वाला अब भारत में! ना कोई जिन्ना पैदा होने वाला है पाकिस्तान बनाने को !! जिन्ना खुद पाकिस्तान बना कर साल भर में ही पछताया था!

अब भारत की समस्याएं कुछ और है.उसके समाधान भी कुछ और है. ना कि ये हिन्दू हिन्दू मुस्लिम मुस्लिम का खेल खेलना.। लोगो की असल ज़रूरतों को पूरा करने का नाम ही देशभक्ति है.असल धर्म है.।
लोगो को डरा डरा कर उनके प्राण मत सुखाओ. प्रेम और भाई चारे का वातावरण पैदा करो.

लेख- राज ढल

Loading...
loading...