इलाहाबाद विश्वविद्यालय से LLB कर रहे दलित छात्र की हत्या के बाद देश भर में विरोध प्रदर्शन हो रहा है। गत शनिवार की रात इलाहाबाद के कटरा इलाके में स्थित एक रेस्तरां के बाहर दलित छात्र की हत्या कर दी गई थी। मामला एक कहासुनी से शुरू हुई और दिलीप सरोज नाम के दलित छात्र की हत्या पर जाकर खत्म हुआ।

एसएसपी के मुताबिक, शनिवार की रात कटरा के एक रेस्तरां से निकलने के दौरान हुई जरा सी टक्कर के बाद दिलीप और विजय शंकर में विवाद हुआ था, जिसने बाद में बड़ा रूप ले लिया।

वारदात के बाद रेस्तरां के मालिक अमित उपाध्याय ने एक अन्य के साथ मिलकर दिलीप को स्थानीय अस्पताल में दाखिल किया था। इसके बाद दिलीप का परिवार उन्हें एक अन्य अस्पताल में ले गया था जहां इलाज के दौरान रविवार को उनकी मौत हो गई।

इस हत्या के विरोध में देशभर में प्रदर्शन और आंदोलन हो रहे हैं। इलाहाबाद लेकर दिल्ली तक छात्र सड़क पर उतर चुके हैं। दिलीप सरोज को जल्द से जल्द न्याय मिले इसकी मांग हो रही है।

इस मामले में जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने ट्वीट किया है कि ‘भागवत जी, ये बताइये कि दिलीप सरोज के हत्यारों को पकड़ने और सजा दिलवाने में RSS-BJP की ढोंगी सरकार को कितना वक़्त लगेगा? तीन दिन या तीन सदी?’

बता दें कि हत्या का मुख्य आरोपी विजय शंकर पेशे से टीटीई है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, विजय शंकर सिंह भाजपा के पूर्व दबंग विधायक सोनू सिंह का रिश्तेदार है।

Loading...
loading...