भारत के राष्ट्रपति प्रणब मुख़र्जी ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को अब तक का सबसे बेहतरीन और पसंदीदा प्रधानमंत्री बताया। राहुल गांधी, हामिद अंसारी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की मौजूदगी में प्रणब ने यह बात कही।

प्रणब ने इंदिरा को कठोर फ़ैसले लेने वाली 20वीं सदी की सबसे निर्णायक महिला बताया। कांग्रेस के नेतृत्व पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस को उनके जैसे कठोर और निर्णायक फैसला लेना होगा, तभी कुछ हो पाएगा।

इंदिरा गांधी पर एक किताब इंडियाज ‘इंदिरा- ए सेंटेनियल ट्रिब्यूट’ के इस विमोचन कार्यक्रम में उन्होंने इंदिरा को श्रदांजलि अर्पित की और उनके बारे में बहुत सारी बातें बताई। उन्होंने 1978 में कांग्रेस के विभाजन के बाद भी किस तरह राज्य चुनावों में बेहतरीन प्रदर्शन पर इंदिरा की भूमिका का भी उल्लेख किया।

प्रणब ने कार्यक्रम में इंदिरा को खुद का अच्छा दोस्त और गुरु भी कहा। प्रणब कहते हैं “मैंने इंदिरा गांधी में देशभक्ति का जो जज्बा देखा, वह महान था, जो उन्होंने आजादी के संघर्ष से हासिल किया था। इंदिरा एक दोस्त और मेन्टॉर थीं और अपनी इच्छाएं मेरे ऊपर न थोपने को लेकर बेहद सतर्क थीं।”

प्रणब ने आगे कहा कि इंदिरा पद की लालची नहीं थी और न ही जात और धर्म की राजनीति करती थी। वो खुले विचारों की प्रगतिशील महिला थी।

Loading...
loading...