संसद मार्ग पर आयोजित ‘युवा हुंकार रैली’ को लेकर सुबह से मीडिया ये बता रही थी कि जिग्नेश को रैली करने की पुलिस परमिशन नहीं मिली है। जिग्नेश मेवाणी ने इस सवाल का जवाब ‘युवा हुंकार रैली’ के मंच से दिया।

जिग्नेश ने कहा कि सुबह से मीडिया के साथी सवाल कर रहे हैं कि आपको ‘युवा हुंकार रैली’ के लिए पुलिस परमिशन नहीं मिला, इसपर आपको क्या कहना है? इसपर मेरा सिर्फ इतना कहना है कि इस देश की 125 करोड़ जनता ये देख रही है।

आप चंद्रशेखर आजाद रावण को रिहा करो, इस देश में सच्चे लोकतंत्र और संविधान को लागू करो और 2 करोड़ युवाओं को रोजगार दो। अगर एक चुने हुए नेता को इतनी बात रखने का भी अधिकार नहीं तो यही वो गुजरात मॉडल है। जिग्नेश ने कहा कि अरे मोदी जी हम आपके गुजरात के ही हैं और अब तो विधायक भी है।

जिग्नेश ने गुजरात की बीजेपी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि मोदी जी हमे मालूम है कि मेरे विधानसभा में आने से आपको बहुत सी फाईले जलानी पड़ी है। और वो सारेअधिकारी जिनके पास आपके करप्शन की सारी फाइले हैं, वो अब मेरे पास आने वाली हैं।

जिग्नेश ने कहा कि हम किसी भी समुदाय, जाति और धर्म के खिलाफ न थे न होंगे। हम इस देश के लोकतंत्र में विश्वास रखते हैं। इस देश के संविधान और संविधान के मुल्यों में विश्वास रखते हैं। सावित्रीबाई फूले, भगत सिंह और बाबा साहेब अंबेडकर की फिलासफी को मानते हैं।

इसलिए मैं कहता हूं कि आप हमारे ऊपर हमले करवाइए, गाली-गलौज कीजिए, फर्जी मुकदमे दर्ज कीजिए, उनसब के बावजूद हम संविधान की ही बात करेगे और प्यार इश्क मोहब्बत का गाना गाएंगे।

Loading...
loading...