कन्हैया कुमार और संबित पात्रा के बीच गरमा गर्म बहस छिड़ी थी। इस बहस में हंगामा होना तो तय था क्योकिं बिना तर्क की बहस करने वालें बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा रोज टीवी डिबेट में यही करते नज़र आते है।

न्यूज़ 18 पर चौपाल में चर्चा तो होनी थी ‘इतिहास’ पर मगर इस बहस में मामला तब फसा जब कन्हैया कुमार संबित पात्रा के एक दम पीछे ही पड़ गए और कहने लगे बोलिए गोडसे मुर्दाबाद बोलिए पहले आप और संबित पात्रा ने इसके बदले स्टॅलिन और अफ़ज़ल गुरु मुर्दाबाद कहने के लिए कहा जब ये बात संबित ने तो बात को टालने लगे मगर कन्हैया कहां मनाने वाले थे उन्होंने बहस के आखिर में संबित पात्रा से आखिर बोलवा ही लिया गोडसे मुर्दाबाद।

बहस के दौरान ही कन्हैया कुमार ने कहा की आजकल राजनीति में हंगामा करके पॉपुलर होने का ट्रेंड हो गया है।

संबित पात्रा ने कहा कि कन्हैया जैसे लोग जब इंडिया आर्मी को रेपिस्ट कहते हैं तो दुख होता है। इसके जवाब में कन्हैया कुमार ने कहा, “अगर मैंने आर्मी के खिलाफ कुछ कहा है, अगर मैंने अफजल गुरु की बरसी मनाई है, अगर मैं देशद्रोही हूं तो 282 सीटों के साथ आपकी सरकार है, 18 राज्यों में आपकी सरकार है, पुलिस आपकी है, राष्ट्रपति-उपराष्ट्रपति आपके हैं, तो फिर अब तक मेरे खिलाफ चार्जशीट क्यों नहीं दाखिल किया?”

इसके बाद संबित पात्रा ने सेना को बहस के बीच लाते हुए कहा की जो लोग सियाचीन में 1 घंटे खड़े नहीं रह सकते वे लोग आर्मी पर सवाल उठाते हैं। हमारी आर्मी मरती है और ये लोग हीरो बनते हैं।

इस पर कन्हैया कुमार ने पलटवार करते हुए कहा की मैं कभी नही बोलूँगा मेरे परिवार के 16 लोग सेना में है क्योकिं वो देश सेवा में है।

कन्हैया ने कहा की अभी कल ही सेना चीफ ने कहा है राजनिति में कभी सेना को नहीं खीचना चाहिए मगर बीजेपी वालें अपनी आदत से मजबुर जो है इन्हें कहाँ समझ आता है कुछ भी।

Loading...
loading...