पुणे के भीमा-कोरेगांव में दलितों पर हुए हमले में कई हिंदू संगठन और दक्षिणपंथी कार्यकर्ताओं का नाम सामने आ रहे हैं। जानकारी के मुताबिक, पुलिस ने दो हिंदू संगठनों शिव प्रतिष्ठान और समस्त हिंदू मोर्चा के खिलाफ केस दर्ज किया है। इसके अलावा मिलिंद एकबोटे और संभाजी भिड़े के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है।

मिलिंद एकबोटे और संभाजी भिड़े दोनो ही हिंदूवादी नेता है। संभाजी भिड़े तो पीएम मोदी के बहुत करीबी भी माने जाते हैं। गौरतलब है कि एक जनवरी को पुणे के भीमा-कोरेगांवर में शौर्य दिवस मनाने जा रहे दलित समाज के लोगों पर भगवा गुंडों ने हमला कर दिया था।

इस हमले में राहलु नाम के एक युवक की मौत भी हो गई है। इस मौत के बाद दलित समुदाय की तरफ से बाबा साहेब अंबेडकर के पौत्र प्रकाश अंबेडकर ने बंद का एलान किया है।

बता दें कि कोरेगांव भीमा नदी के तट पर महाराष्ट्र के पुणे के पास स्थित है। 1 जनवरी 1818 को सर्द मौसम में एक ओर कुल 28 हजार सैनिक जिनमें 20,000 हजार घुड़सवार और 8,000 पैदल सैनिक थे, जिनकी अगुवाई पेशवा बाजीराव-II कर रहे थे तो दूसरी ओर बॉम्बे नेटिव लाइट इन्फेंट्री के 500 महार सैनिक, जिसमें महज 250 घुड़सवार सैनिक ही थे।

आप सोच सकते हैं कि सिर्फ 500 महार सैनिकों ने किस जज्बे से लड़ाई की होगी कि उन्होंने 28 हजार पेशवाओं को धूल चटा दिया था।

Loading...
loading...