कर्ज तले दबा हुआ किसान हो या न्यूनतम समर्थन मूल्य की मांग करने वाला किसान, इन दिनों सभी सड़कों पर है। मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र समेत कई राज्यों में सरकार की मनमानी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे इन किसानों पर भाजपा सरकार ने जिस तरह से गोली चलवाई उसके बाद जनाक्रोश चरम पर है।

मशहूर कवि और आप नेता डॉ. कुमार विश्वास ने मुख्यमंत्री शिवराज चौहान के नकारेपन को उजागर करने के लिए चार काव्यात्मक पंक्तियों में प्रस्तुति दी।

विश्वास ट्विटर पर लिखते हैं कि, ‘भगवान का सौदा करता है, इंसान की कीमत क्या जाने ? जो धान की कीमत दे ना सका, वह जान की कीमत क्या जाने?

कविता के माध्यम से सरकार के विरोध के इस तरीके को ट्विटर पर खूब पसंद किया जा रहा है। इसी बहाने लोग मोदी सरकार को भी लपेटे में ले रहे हैं।

हरजिंदर कौर नाम की एक यूजर कुमार विश्वास की कविता के जवाब में लिखती हैं, ‘प्रधान बना है जो घर का, वह घर में कभी टिकता ही नहीं नवाज की मां का हाल पूछे, उसे दर्द किसान का दिखता ही नहीं।

एक अन्य यूजर ज्योतिका जवाब देते हुए लिखती हैं ‘शाम को जब भूख लगे तो खाना खाते वक्त याद रखिएगा उसी अन्न की कीमत माँगते किसानों ने गोलियां खाई हैं।

 

Loading...
loading...