केंद्र सरकार की नोटबंदी पर अधूरी तैयारी की वजह से नोट बैन के बढ़ते साइड इफेकट पर राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने गहरी चिंता व्यक्त की है।  उन्होंने कहा कि पीएम मोदी और उनके मंत्री नौटंकी बंद करे और किसानों की चिंता करें।

बीते 6 दिनों में पैसों की कमी की वजह से 16 लोगों की मौत के बाद आज राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने सोशल मीडिया पर मोदी सरकार से सवाल पूछते हुए लिखा है, “किसान मर रहा है। रबी की फसल की बुआई कैसे करेगा। बीज और खाद किससे खरीदेगा। तुम्हारे पूंजीपति मित्र किसानों को खाद/बीज खरीदवाने आएंगे क्या?”

लालू ने आगे लिखा, “किसानों की खरीब की पैदावार खेतों में पड़ी है। कोई खरीदने वाला नही है। रबी की बुआई का पैसा नही है।”

उन्होंने आगे कहा कि दिल्ली के एसी कमरों में बैठ कर वित्त नीति बनाने वालों को किसानी का “क” भी नही पता। एक तो गाँवो में बैंक नहीं है, और जो है भी तो उनमें पैसे नहीं हैं। आखिर गरीबों को किन पापों की सजा और पूँजीपतियों को किन कर्मों का पुण्य दे रहे हो ?

आपको बता दें कि हाल ही में वित्त मंत्री अरुण जेलती ने एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान तकनीकी दिक्कतों का हवाला देते हुए कहा था कि एटीएम पर सामान्य हालात होने में अभी कम से कम 2 हफ्ते और लगेंगे। वहीँ अपने जल्दबाजी के फैसले की वजह से तड़पती जनता को देख पीएम मोदी ने सामान्य हालात होने में 50 दिन का समय माँगा है।

लेकिन केंद्र सरकार ने अब तक असल सवाल का जवाब नहीं दिया है कि इतने दिनों में बिना पैसों के आम जनता के परिवार का गुज़र बसर कैसे होगा।

Loading...
loading...