राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनौती देते हुए कहा है कि लोकसभा भंग करके फिर से आम चुनाव करवाएँ । साथ ही कहा, पिछले 3 सालों में केंद्र सरकार पूरी तरह से विफल हुई है । भाजपा और RSS के अलावा किसी और को फायदा नहीं हुआ है।

रविवार को मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा ‘लोकसभा भंग करें और कुछ राज्यों में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव के साथ ही आम चुनाव भी करवा लें क्योंकि पिछले आम चुनाव में किए गए अपने वादे पूरा करने में पूरी तरह से असफल हुए हैं।

साथ ही बेरोजगारी को मुद्दा बनाते हुए उन्होंने कहा कि हर साल उन दो करोड़ नौकरियों का क्या हुआ जिसका वादा मोदी जी ने किया था।

गौरतलब है कि 2014 के चुनाव प्रचार में मोदी जी ने वादा किया था कि हर साल दो करोड़ नई नौकरियों का सृजन किया जाएगा। लेकिन श्रम मंत्रालय की हालिया रिपोर्ट कहती है कि तेजी से नौकरियां घटती जा रही हैं । 2016 के आखिरी तिमाही में लगभग पौने दो लाख नौकरियां घटी हैं।

काले धन पर सरकार की नाकामी को मुद्दा बनाते हुए आगे कहते हैं ‘सरकार को कोई अधिकारिक आंकड़ा पेश करना चाहिए और बताना चाहिए कि पिछले 2 सालों में विदेशों में जमा कितना काला धन वापस लाया जा सका है। ‘

लोकतंत्र के लिए खतरनाक है भाजपा

पूर्व केंद्रीय मंत्री लालू प्रसाद ने कहा कि, भाजपा क्षेत्रीय दलों को खत्म करना चाहती है। और भारत के संघीय ढांचे को खत्म करने पर आमदा है जो लोकतंत्र के लिए बेहद खतरनाक है।

नफरत फैलाने वाली पार्टी है भाजपा

लालू कहते हैं ‘भाजपा किसी भी कीमत पर सत्ता में बने रहना चाहती है इसके लिए वह जातियों और समुदायों में नफरत पैदा करती है इसलिए भाजपा के हाथों में देश सुरक्षित नहीं है।’

केंद्र सरकार के 3 साल होने वाले हैं और आजकल लालू यादव भाजपा को चौतरफा घेर रहे हैं। चाहे वो ईवीएम का मुद्दा हो या बेरोजगारी का या फिर कालेधन वापसी पर विफलता।

Loading...
loading...