भाजपा नेता का शर्मनाक वीडियो वायरल, मेनस्ट्रीम मीडिया ने गायब कर दी खबर

खबरों की दुनिया में किसी खबर को पाठकों या दर्शकों से छिपाना नैतिक अपराध है। अगर कहीं घटना हुई है तो उसकी खबर दर्शकों तक पहुंचाना मीडिया की जिम्मेदारी बनती है। लेकिन क्या हमारी मीडिया खासकर चौबीसों घंटे सबसे तेज खबर देने का दावा करने वाले समाचार चैनल पूरी ईमानदारी से अपनी जिम्मेदारी निभा रहे हैं। ऐसा लगता तो नहीं है। ऐसा कहने की वजह भी है हमारे पास।

दरअसल पिछले तीन दिनों से महाराष्ट्र के एक भाजपा नेता का शर्मनाक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में भाजपा नेता चलती बस में एक युवती के साथ शारीरिक संबंध बनाते हुए नजर आ रहा है। भाजपा नेता रविंद्र वावनथडे की इस शर्मनाक हरकत ने सियासत के साथ सोशल मीडिया पर तीन दिनों से हलचल मचा रखी है। लेकिन इस खबर को किसी भी राष्ट्रीय न्यूज चैनल ने नहीं दिखाया। चौबीसों घंटे और सबसे पहले खबरें दिखाने का दावा करने वाले तमाम चैनल इस खबर को दबा कर बैठ गए। अगर सोशल मीडिया नहीं होता तो भाजपा के इस नेता की हरकत की खबर किसी को नहीं लगती।

आपको बता दें कि इस मामले में पीड़ित युवती की शिकायत पर पुलिस ने रेप का मामला दर्ज कर आरोपी नेता को गिरफ्तार कर​ लिया है। घटना नागपुर से 60 किलोमीटर दूर चंद्रपुर की है। जहां सीसीटीवी कैमरा से लैस एक बस गढ़चिरौली से नागपुर जा रही थी। वीडियो में भाजपा नेता पिछली सीट पर एक युवती के साथ आपत्तिजनक हरकतें करता नजर आ रहा है।

वीडियो के वायरल होने के बाद युवती ने नागपुर के चंद्रपुर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराते हुए कहा कि रविंद्र ने उसे शादी और नौकरी का झांसा देकर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाया है। आरोपी नेता के खिलाफ आईपीसी की धारा 376(2), 66 ई और 67 ए के तहत मामला दर्ज किया गया है।

इस घटना ने देश के सियासी गलियारों में सनसनी फैला दी है। बुधवार को इस घटना पर बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी ट्विट किया। वहीं भाजपा का कोई भी नेता इस पर कुछ भी बोलने से साफ बचता नजर आ रहा है। भाजपा के कुछ नेता दबी जबान में आरोपी पार्टी नेता से यह कहते हुए पल्ला झाड़ने की कोशिश कर रहे हैं कि अब वह नेता पार्टी में सक्रिय नहीं है।

सवाल सक्रिय होने या नहीं होने का नहीं है। सवाल पार्टी का भी नहीं है। सवाल खड़ा होता है खबर को सिरे से गायब कर देने के पीछे चैनलों के मकसद पर। क्योंकि पिछले साल दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार में मंत्री रहे संदीप सिंह का एक महिला के साथ आपत्तिजनक स्थिति में वीडियो वायरल होने पर इन्हीं चैनलों ने कई दिन तक पहाड़ सर पर उठा रखा था। सुबह से लेकर रात तक और प्राइम टाइम के बुलेटीन में भी कई दिनों तक यही खबर चलती रही थी। संदीप सिंह से लेकर अरविंद केजरीवाल तक को घेर-घेर कर नैतिकता पर सवाल पूछे गए थे।

लेकिन पिछले तीन दिनों से भाजपा नेता का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है लेकिन देश की मीडिया की नजर अबतक उस पर नहीं पड़ी है। आखिर ऐसी क्या वजह है कि भाजपा नेताओं के विवादों की खबर पर देश का मेनस्ट्रीम मीडिया चुप्पी साध लेता है और जब विवाद अन्य विपक्षी दलों के नेताओं से जुड़ा होता है तो फिर यह मीडिया आधी रात को भी चीख-चीख कर खबरें दिखाता है और उनपर डिबेट भी करवाता है। मीडिया का इस प्रकार से व्यवहार करना देश के लिए बहुत ही खतरनाक है।

 

Loading...
loading...