पहले आजमगढ़ फिर इलाहाबाद अब सहारनपुर बहुजन समाज पार्टी यानी बीएसपी के रंग में रंगा नजर आया। जिधर देखो नीला-नील जिधर सुनो अंबेडकर-कांशीराम के नारें गूंज रहे थे। ये आगाज़ है राजनीति के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश में होने वाले 2017 के विधानसभा चुनाव का। जिसकी आहट बसपा सुप्रीमो औऱ सूबे की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती की एक के बाद एक रैलियों से सुनाई दे रही है।

आज लाखों कार्यकर्ताओं से पटे शहर सहारनपुर में भी कुछ ऐसा ही नज़ारा देखने को मिला। सहारनपुर उत्तर प्रदेश के पश्चिमी छोर पर बसा एक जिला है जहाँ मायावती का राजनीतिक कद काफी ऊँचा माना जाता है। क्योंकि बसपा पार्टी सुप्रीमो पश्चिमी उत्तर प्रदेश की रहने वाली है। जिस कारण पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बसपा का अच्छा खासा जनाधार माना जाता है। आज मायावती ने सहारनपुर में अपने राजनीतिक प्रतिद्धंदियों को इसका सुबूत भी दे दिया।

मायावती ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि मुझे भरोसा है कि इस बार उत्तर प्रदेश में भाजपा तथा समाजवादी पार्टी का दंगा कराने का षडयंत्र काम नहीं आएगा। उत्तर प्रदेश में बसपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनेगी।

मायावती ने भाजपा पर हमला करते हुए कहा, यूपी में भाजपा ने कई वर्षों तक राज कि‍या, लेकि‍न वि‍कास नहीं हुआ। भाजपा ने केवल सांप्रदायि‍क ताकतों को ही मजबूत कि‍या है। नरेंद्र मोदी ने पूरे देश में सस्‍ते राशन देने का वादा कि‍या था। उल्‍टे महंगाई बढ़ी है।

बता दे कि पिछले विधानसभा चुनाव में भी बीएसपी ने सहारनपुर में अपना दबदबा कायम रखा था। बीएसपी ने जिले की 5 विधानसभा सीटों में 3 सीटों पर जीत दर्ज की थी। बसपा सुप्रीमों की आज सहारनपुर में रैली भी इस उपलब्धि को 2017 के विधानसभा चुनाव बनाए रखने की रणनीति मानी जा रही है।

Loading...
loading...