भीमा-कोरेगांव में दलित हुए हमले की तार बीजेपी से जुड़ती नजर आ रही है। मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष संजय निरूपम ने ट्वीट किया है कि ‘भीमा कोरेगांव में दंगा कराने के लिए दो लोगों को बुक किया गया था। इसमें से एक मिलिंद एकबोटे हैं। मिलिंद बीजेपी के पार्षद रह चुके हैं। इससे पता चलता है कि महाराष्ट्र के जातीय हिंसा में बीजेपी का हाथ है।’

संजय निरूपम ने अपने पहले ट्वीट लिखा था कि इस हिंसा का जिम्मेवार आरएसएस से जुड़े दो लोग हैं।

संजय निरूपम ने लिखा था कि ‘संघ परिवार ने पुणे में हिंसा फैलाने के लिए दो लोगों को बुक किया था। यह स्पष्ट है कि इस दलित विरोधी हिंसा को आरएसएस डिजाइन किया था।’

इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने ट्वीट किया था कि ‘आरएसएस और बीजेपी की फासीवादी विचाराधारा यही चाहती है कि दलित भारतीय समजा की तलहटी में ही रहें। ऊना, रोहित बेमुला और अब भीम-कोरेगांव प्रतिरोध के प्रतीक हैं।’

बता दें कि एक जनवरी को शौर्य दिवस मनाने के लिए इक्ट्ठा हुए दलित समुदाय पर भगवा गुंडों ने हमला कर दिया।

इस हमले एक व्यक्ति की मौत हो गई है जिसके बाद दलित समुदाय की तरफ से बाबा साहेब अम्बेडकर के पौत प्रकाश अम्बेडकर ने बंद का एलान किया है। मंगलवार को हिंसा की आग कई इलाकों में फैल गई।

Loading...
loading...