प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 3 दिवसीय इजरायल दौरे से लौट आए हैं। लेकिन अपनी एक बात से जिसने करोड़ों विदेशियों का दिल जीत लिया उसपर फंस गए हैं। प्रधानमंत्री को 2008 के दर्द दिखते हैं पर 2017 के दर्द पर चुप्पी साध लेते हैं।

पीएम मोदी ने प्रोटोकॉल तोड़कर 2008 मुंबई हमले में घायल 11 साल के मोशे होल्तबर्ग को गले लगा लिया वहीं देश में 18 साल के जुनैद की हत्या पर एक शब्द भी नहीं बोले।

18 साल का जुनैद खुशियां मनाने भारतीय रेल से अपने घर जा रहा था। रेल की बोगी में नफरती भीड़ ने उसकी जान ले ली। कई लोगों ने उसे पीटते-पीटते मार डाला। बीफ खाने का शक था इसलिए बेगुनाह देश के नौजवान को मार डाला गया।

देश के चौकीदार प्रधानमंत्री ने जुनैद की मौत पर चुप्पी साध रखी है। आजतक एक शब्द उसकी हत्या के बाद नहीं बोला। न गौरक्षा के नाम पर देशभर में हत्या कर रहे उन हत्यारों के खिलाफ कोई सख्त सज़ा देने का काम किया। जिससे वह भयभीत हो जाए।

लोगों ने कहा कि, गैरों पर करम औऱ अपनों पर सितम क्या यही है मोदी का न्यू इंडिया ? पूर्व आईपीएस संजीव भट्ट ने दोनों फोटो शेयर करते हुए लिखा कि, यह है न्यू इंडिया। सोशल मीडिया पर तमाम लोगों ने इस फोटों को शेयर किया।

आपको बता दें कि, बल्लभगढ़-पलवल लोकल ट्रेन में 18 साल के जुनैद की बीफ के शक में हत्या कर दी गई थी।

Loading...
loading...