अगर आप एक हिंदू हैं तो आप बे-झिझक गाय पाल सकते हैं। लेकिन अगर आप एक मुसलमान हैं तो आपके लिए गाय पालना खतरे से खाली नहीं है, और खास तौर पर तब जब आप उत्तर प्रदेश में रहते हों।

उत्तरप्रदेश में इन दिनों गोरक्षकों द्वारा किसी ना किसी पर हमला करने की ख़बरें आती रहती है। लेकिन इस बार चपेट में आए मेरठ शहर के नगर निगम पार्षद अब्दुल गफ्फार।

अब्दुल गफ्फार ने कुछ समय पहले अपने एक रिश्तेदार से बछिया ली थी और उसे वो बड़े चाव से पालते थे। मगर आए दिन वो मीडिया में देखते की गाय पालने वाले मुसलमानों पर गोरक्षक अक्सर हमला कर देते हैं। इसके बाद उन्हें ये अहसास हुआ कि एक मुसलमान द्वारा गाय पालना कितना खतरनाक हो सकता है। गौरतलब है कि राज्य में योगी सरकार बनने के बाद इस तरह के हमलों में तेज़ी आई है।

इस वजह से नगर निगम पार्षद अब्दुल गफ्फार ने कथित गोरक्षकों के हमलों के डर से गाय नौचंदी थाने में ले जाकर बांध दी और कहा इसे पालना खतरे से खाली नहीं है, इसे आप ही रखिए।

इसके अलावा उन्होंने पुलिस को एक प्रार्थना-पत्र भी दिया जिसमे उन्होंने लिखा, “मैं आए दिन मीडिया में देखता हूँ कि गाय पालने वालों पर हिंदू संगठन हमला कर रहे हैं। किसी दिन हिंदू संगठन के नेता मुझपर भी हमला कर जान का खतरा पैदा कर सकते हैं।”

स्थानीय मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, मंगलवार को पार्षद अब्दुल गफ्फार गाय लेकर थाने पहुंचे और पुलिस से कहा कि उनकी गाय को थाने में ही बांध दिया जाए या पुलिस खुद गाय को किसी हिंदू संगठन के हवाले कर दे।

पुलिस ने गाय को अपने कब्जे में लेकर एक स्थानीय निवासी को दे दिया। इसके बाद गफ्फार ने मीडिया को बताया कि गाय पालने के कारण एक मुस्लिम शख्स पर हमला किया गया, इसलिए अब वो गाय नहीं पालना चाहते।

Loading...
loading...