रोहिंग्या मुस्लिम मामले को लेकर हाल ही में म्यांमार की ब्यूटी क्वीन श्वे यान शी का ताज छिना गया। यान शी के रोहिंग्या मुस्लिम चरमपंथियों पर एक ग्राफिक वीडियो पोस्ट करने पर उनसे खिताब वापस लिया गया। विडियो में रखाइन राज्य में हुई साम्प्रदायिक हिंसा के लिए मुस्लिम रोहिंग्या चरमपंथियों को जिम्मेदार ठहराया गया है। म्यांमार की सेना पर रखाइन में रोहिंग्याओं के खिलाफ जातीय सफाया अभियान चलाने के आरोप लगे हैं।
गौरतलब है कि रोहिंग्या मुस्लमानों का मामला पूरी दुनिया में गर्म है और इसे लेकर सरकारें काफी सतर्क नजर आ रहीं हैं। मिस ग्रांड म्यांमार शी ने पिछले हफ्ते अपने फेसबुक पर पोस्ट किए गए इस वीडियो में रोहिंग्या चरमपंथियों पर एक मीडिया अभियान चलाकर विश्व को चकमा देने का आरोप लगाया है ताकि सब उन्हें ही विक्टिम समझें। आपको बता दें कि इस वीडियो में उनके बयान के बीच-बीच में लोगों के खून से सने चेहरे, बच्चों की नग्न तस्वीरें और एआरएसए अराकान रोहिंग्या साल्वेशन आर्मी के पोस्ट किए वीडियो की ग्राफिक डाली गई हैं।
हांलाकि सौंदर्य स्पर्धा आयोजित करने वाली संस्था ने घोषणा की कि यान शी द्वारा अनुबंध के नियम तोड़ने की वजह से उनका खिताब छीना गया है। हालांकि अपने बयान में उन्होंने रखाइन के संबंध में पोस्ट किए गए इस वीडियो का जिक्र नहीं किया है। फेसबुक पर ही यान शी ने कहा कि उन पर लगाए आरोप गलत हैं।

Loading...
loading...