जहां सरहदें दो दिलों को जुदा कर देती है वहीं कला इन सरहदों के तकाज़े को मिटाकर दो जुदा हुए दिलों को जोड़ देती है। कुछ ऐसा ही नज़ारा तब देखने मिला जब पाकिस्तान के पेशावर में हिन्दी फिल्मों के महान अभिनेता विनोद खन्ना को नम आंखों से श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

विनोद खन्ना के जन्मस्थान पेशावर में कल्चरल हैरिटेज काउंसिल ने भारत के महान अभिनेता के सम्मान में एक समारोह का आयोजन करने का ऐलान किया। कल्चरल हैरिटेज काउंसिल खैबर पख्तूनख्वा के महासचिव शकील वहीदुल्लाह ने बताया कि संस्था जल्द ही विनोद खन्ना की याद में एक शानदार कार्यक्रम का आयोजन करेगी।

पेशावर में जाने-माने फिल्म इतिहासकार मुहम्मद इब्राहिम जिया ने भारत के महान अभिनेता के बारे में बात करते हुए कहा कि विनोद खन्ना का जन्म 6 अक्तूबर 1946 को पेशावर के छावनी क्षेत्र के सरदार इलाके में हुआ था। उनके पिता मेहर चंद खन्ना एक बड़े कारोबारी और कांग्रेस के पूर्व मंत्री थे।

बता दें कि, फिल्म अभिनेता विनोद खन्ना का 70 साल की उम्र में लंबी बीमारी के बाद गुरुवार सुबह हरकिशन अस्पताल में निधन हो गया था। उनके निधन की खबर से बॉलीवुड के साथ ही उनके फैंस के बीच शोक की लहर दौड़ गई है।

#Vinod Khanna #Pakistan #Peshawar #Tribute to legendary #Indo-Pak Relation

 

Loading...
loading...