मुम्बई के आजाद मैदान से कल पुलिस ने दो लोगों को सिर्फ इसलिए हिरासत में ले लिया क्योंकि उन्होंने ऐसी टी-शर्ट पहनी थी जिसपर लिखा था “Who Killed Judge Loya?”

बता दें कि ‘जज लोया’ सोहराबुद्दीन मामले की सुनवाई कर रहे थे जिसमें बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह आरोपी हैं। ‘दि कारवां’ मैगजीन अपनी एक रिपोर्ट में उनकी मौत को संदिग्ध बताया गया था।

बीजेपी शासित महाराष्ट्र में हुई इस गिरफ्तारी से सवाल उठने लगे है कि क्या मुंबई पुलिस जज लोया की मौत के आरोपियों को बचाना चाहती है? अगर ऐसा नहीं है तो विरोध के स्वर को क्यों दबाने की कोशिश हो रही है।

गौरतलब है कि सीबीआई जज बृजमोहन लोया की संदिग्ध परिस्थतियों में मौत को लेकर अब बॉम्बे हाईकोर्ट में बॉम्बे लॉयर्स असोसिएशन ने एक याचिका दायर की है। याचिका में जज लोया की मौत की किसी पूर्व सुप्रीम कोर्ट न्यायधीश की अध्यक्षता में बने आयोग से जाँच कराने की माँग की गई है।

जज बृजमोहन लोया सोहराबुद्दीन एनकाउंटर मामले को देख रहे थे जिसके मुख्य आरोपी भाजपा अध्यक्ष अमित शाह थे। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामलें की कार्रवाई गुजरात से बाहर करने का आदेश दिया था जिसके बाद ये मामला सीबीआई अदालत में जज लोया के पास आया।

लोया ने अमित शाह के उपस्थित न होने पर सवाल उठाए और सुनवाई की तारीख 15 दिसम्बर 2014 तय की लेकिन 1 दिसम्बर को ही उनकी मौत हो गई। इसके बाद न्यायधीश एमबी गोसवी आये, जिन्होंने दिसम्बर 2014 के अंत में ही अमित शाह को इस मामले में बरी कर दिया।

Loading...
loading...