कुछ दिन से सोशल मीडिया पर एक तस्वीर काफी वायरल हो रही थी। जिसमें एक ऑटो ड्राइवर 4 साल के अपने बच्चे को गोद में लिए ऑटो चला रहा है। इस तस्वीर के पीछे काफी दर्दनाक और ह्रदयविदारक मजबूरी छिपी हुई थी।

दरअसल अपनी बीमार बीवी का इलाज न करा पाने की मजबूरी में मोहम्मद सईद दिन-रात मेहनत करने में लगा हुआ था। बीवी बिमार थी। जिस वजह से बच्चे का ख्याल नहीं रख सकती थी। इसी कारण ऑटो ड्राइवर सईद बच्चे को साथ लेकर जाने लगा।

सबसे पहले इस भावुक तस्वीर को विनोद कापड़ी ने अपने कैमरे में कैद किया। जिसके बाद कापड़ी ने ही सोशल मीडिया पर लोगों से ड्राइवर सईद की मदद के लिए अपील की। लोगों ने दो दिन में दो लाख की आर्थिक मदद भेज दी।

तभी विनोद कापड़ी ने लिखा कि, दो दिन और दो लाख रूपए से अधिक की मदद। कल से मोहम्मद सईद की पत्नी का इलाज शुरू हो जाएगा और डॉक्टरों ने सईद को बताया है कि यास्मीन दो हफ़्ते में ठीक हो जाएगी।

आज जब मैं सईद और उसके परिवार से मिला तो उनकी आँखों में खुशी के आँसू थे। परिवार ने आप सबको और देश के हर नागरिक को धन्यवाद कहा है। और मेरे लिए ईद पर खास बिरयानी।

यास्मीन ने वादा किया है कि जब वो ठीक हो जाएगी तो मुझे अपने हाथ की बिरयानी खिलाएगी। तो अब मुझे ईद का इंतज़ार है !

आपको बता दें कि, ऐसे मौके और लोगों के अंदर आज भी जिंदा इंसानियत ही हिंदुस्तान की एक खूबसूरत तस्वीर बनाती है। जहां लोग आज भी रूककर लोगों की परेशानी व दुख-दर्द सुनकर बांटा करते हैं।

Loading...
loading...