देश का अगला राष्ट्रपति कौन होगा, इसके लिए आज न सिर्फ संसद में चुनाव हुआ बल्कि देशभर के अलग-अलग विधानसभाओं में भी जनप्रतिनिधियों ने वोटिंग की।

जहां एनडीए की तरफ से रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया गया है वहीं विपक्ष की उम्मीदवार मीरा कुमार हैं। लेकिन इन दोनों नाम के अलावा राष्ट्रपति चुनाव के दौरान सबसे ज्यादा जिस तीसरे इंसान की चर्चा हुई वो है लालकृष्ण आडवाणी।

हिंदुत्व की राजनीति को हवा देने वाले आडवाणी अब मुख्यधारा की राजनीति खुद हवा हो गए हैं। उनकी इस बदहाली पर जगह जगह व्यंग बनाए जा रहे हैं।

आज जबकि वह राष्ट्रपति चुनने के लिए वोटिंग कर रहे थे, उस दौरान की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है ।

लोग कह रहे हैं जिसने वर्षों से राष्ट्रपति बनने के सपने संजोए थे आज उसे ही किसी और के लिए वोट करना पड़ रहा है,इससे दर्दनाक बात क्या होगी। वक्त की मार का दर्द आडवाणी से ज्यादा कौन समझता है।

एक ट्विटर यूजर लिखते हैं ’21वीं सदी की सबसे दर्दनाक तस्वीर।’

एक अन्य यूजर लिखती हैं ‘आडवाणी जी अपनी भावनाओं पर नियंत्रण करते हुए, बड़े भारी मन से .

आडवाणी की दुर्दशा को देखते हुए लोग तरह-तरह की बातें बना रहे हैं । लगभग दो दशक तक भाजपा की अगुवाई करने वाले और संघ के चहेते रहे आडवाणी आज मुख्यधारा की राजनीति से बेहद दूर कर दिए गए हैं । उन्हें मार्गदर्शक मंडली का हिस्सा बना कर निष्क्रिय रख दिया गया है।

Loading...
loading...