नोटबंदी के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला बोलते हुए सीपीआई (एम) महासचिव सीताराम येचुरी ने रविवार को आरोप लगाया कि उन्होंने ‘जेबकतरे’ की तरह लोगों का पैसा ले लिया।

येचुरी ने पीएम मोदी पर कालाधन रखने वालों को इसे सफेद में बदलने में मदद करने का आरोप लगाया और कहा कि सरकार यह दावा करके धोखाधड़ी कर रही है कि नोटबंदी के बावजूद विकास दर 7.1 प्रतिशत रहेगी।

एक दिन पहले ही भाजपा ने 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को बंद करने के फैसले को ‘पवित्र कदम’ कहा था और इससे अर्थव्यवस्था साफ-सुथरी होने का दावा किया था।

येचुरी ने कहा कि जब सरकार ने बैंकों में वापस आए नोटों पर कोई आंकड़ा जारी नहीं किया है और धन निकालने पर पाबंदी बरकरार है तो ‘कालेधन पर जीत’ का दावा भाजपा कैसे कर सकती है।
येचुरी ने फेसबुक पर एक पोस्ट में लिखा, ‘मोदी जेबकतरे की तरह बर्ताव कर रहे हैं, जो पहले लोगों की जेब काट ले और फिर कहे कि वह कल्याण योजनाएं लेकर आएगा।’

येचुरी ने कहा कि 2014 के चुनावों से पहले मोदी ने कहा था कि 90 प्रतिशत कालाधन विदेशों में जमा है। इस मोर्चे पर प्रधानमंत्री कुछ नहीं कर रहे हैं।

माकपा नेता ने आशंका जताई कि 31 मार्च के बाद नोटबंदी के नतीजतन ऐसा नहीं हो कि बैंकों में छापे गये नोटों से ज्यादा मुद्रा आ जाए। उन्होंने दावा किया, अंतत: होगा यह कि कालाधन सफेद हो जाएगा और जाली नोट वैध मुद्रा में तब्दील हो जाएंगे।

Tag- #SitaramYechury #Modi #Demonetization #CPI