गुजरात चुनाव में सारे नेता एक तरफ तो दूसरी तरफ अकेले प्रधानमंत्री मोदी का भाषण एक तरफ है। ऐसा इसलिए क्योंकि पीएम मोदी  ने कितनी बार राहुल गाँधी का ज़िक्र किया और कितनी बार कांग्रेस को कोसा इस बारें में कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने ट्वीट कर जानकारी दी है।

कांग्रेस नेता ने खुलासा करते हुए बताया की मुझे पत्रकारों ने बताया है कि, मोदी की पिछली 26 रैलीयों में कौन सा शब्द कितनी बार इस्तेमाल किया है।

चुनाव की गहमागहमी में बीजेपी नेताओं को गंभीर न दिखने वाले राहुल गाँधी का ज़िक्र पीएम मोदी ने करीब 621 बार किया है। ऐसा तब हुआ जब बीजेपी के ज़्यादातर नेता राहुल गाँधी को सीरियस न लेने की बात करते है। वहीँ कांग्रेस मुक्त भारत की कल्पना करने वालें पीएम मोदी ने उसी पार्टी को ज़िक्र अपने भाषणों में करीब 427 बार किया है।

गुजरात चुनाव में जब सरदार पटेल का नाम खीचा गया तो पीएम मोदी ने भी इस मामलें काफी सीरियस लिया और कई और मुद्दे छोड़कर सरदार पटेल और जवाहर लाल नेहरु के बीच मतभेदों पर जमकर चर्चा ऐसा करते हुए उन्होंने अपने भाषण पटेल का ज़िक्र करीब 209 बार किया।

कांग्रेस के निशाने पर रहने वालें मार्केटिंग के विकास की पीएम मोदी ने अपने भाषणों में जमकर चर्चा की ऐसा करते हुए उन्होंने विकास पर चर्चा करते हुए 103 बार विकास का ज़िक्र अपने भाषणों में किया।

‘सबका साथ सबका विकास’ की बात करने वाले प्रधानमंत्री मोदी ने एक समुदाय का नाम बार अपने भाषणों में ज़िक्र किया वो था हिन्दू शब्द जिसका ज़िक्र पीएम मोदी ने हिन्दू शब्द का ज़िक्र करीब 93 बार किया हुआ है।

वहीँ राम का ज़िक्र करने वालें पीएम मोदी ने करीब 27 बार किया बल्कि अगर देखा जाये तो चुनावी मुद्दे में राम हमेशा से रहे है इस बार उनका ज़िक्र भी कम हुआ है।

सबसे आखिर में जैसा की ट्वीट में बताया गया है जिसका ज़िक्र ही नहीं हुआ पीएम मोदी ने जिस मुद्दे की मार्केटिंग कर सत्ता हासिल की वो है गुजरात मॉडल जिसका ज़िक्र बिलकुल नहीं हुआ है।

Loading...
loading...