योगी राज में पुलिस का गुंडागर्दी अपने चरम पर है वहीँ हर पुलिस वाला खुद को दबंग समझता ही है। पुलिस के ऐसे ही बर्ताव कि घटना सामने आई है जिसमें पुलिस ने सारी हदे पार कर दी है। एक बार फिर यूपी पुलिस की गुंडागर्दी का ताज़ा मामला सामने आया है जहाँ दरोगा ने ज़मीन पर अवैध तरीके से कब्ज़ा करके पीड़ित परिवार को धमकाते हुए उनका सारा सामान बाहर फेंक दिया साथ ही महिलाओं के साथ मारपीट भी की।

यह घटना मथुरा में जैंत के राल गांव की है जहाँ दरोगा अवैध तरीके से अपने भाई को ज़मीन पर कब्ज़ा दिलवाना चाहता है इसलिए उसने ज़मीन के मालिक को जगह खाली करने के आदेश दिए है। वहीँ पीड़ित परिवार डर के कारण कुछ भी नहीं कर पा रहा है।

पीड़ित के परिजनों कहना है कि दरोगा घर में घुसकर धमकी देने लगा कि ये प्लाट खाली कर दो नहीं तो सभी को जेल भेज दूंगा। और लोगो के पूछने पर वह आग बबूला हो गया और उनकी झोपड़ी में से खुद ही सामान फेंकने लगा।

वहीँ जब महिलाओं ने रोकने की कोशिश की तो दरोगा ने अश्लील शब्दों का प्रयोग किया व उनके साथ मारपीट भी की। पीड़ित माधुरी के मुताबिक दरोगा का भाई अपनी सारी जमीन पहले ही बेच चुका है। और अब वो उनकी जमीन पर पुलिस को पैसे देकर कब्जा करवा रहा है। जब इस बारे में जैत चौकी प्रभारी से बात की गई तो वो कहते रहे कि मुझे कुछ बोलने का अधिकार नहीं है।

उच्च अधिकारीयों से मदद की गुहार लगाने पर भी कुछ नहीं हुआ जब पीड़ित माधुरी का परिवार मदद के लिए  कप्तान साहब से मिलने गया तो उनसे मुलाकात ना होने के कारण उन्हें वृंदावन कोतवाली भेज दिया गया। ऐसे ही उसे एक कार्यालय से दूसरे कार्यालय चक्कर लगवाते रहे तब हारकर माधुरी ने डाक के माध्यम से सभी उच्च अधिकारिओं को इस मामले की सूचना दी।

Loading...
loading...