मराठी चैनल TV9 पर सबसे ज्यादा देखे जाने वाले प्राइम टाइम को अचानक बंद कर दिया गया है। उसके एंकर निखिल वागले से किए गए कॉन्ट्रैक्ट को तोड़ते हुए यह कदम उठाया है। जिससे पत्रकारिता और अकादमी जगत के लोग नाराज हैं।

राजदीप सरदेसाई ट्वीट करते हुए लिखते हैं ‘सुनकर हैरान हूं कि मराठी में सबसे ज्यादा देखे जाने वाले निखिल वागले के प्राइम टाइम को अचानक ही TV9 पर से बंद कर दिया गया है।’

उसी ट्वीट को रिट्वीट करते हुए निखिल वागले लिखते हैं ‘हां TV9  ने मेरा शो बंद कर दिया है, वो भी मनमाने ढंग से और हमारा कॉन्ट्रैक्ट तोड़ते हुए।’

इस पर इतिहासकार रामचंद्र गुहा लिखते हैं ‘पहले ई पी डब्ल्यू के एडिटर को अचानक इस्तीफा देना पड़ा और अब प्राइम टाइम एंकर निखिल वागले को, कॉन्ट्रैक्ट तोड़ते हुए उनका शो बंद किया गया । यह पत्रकारिता के लिए बुरा सप्ताह रहा है और सबसे बहादुरी से काम करने वाले पत्रकारों को शांत कराने की कोशिश है।’

इस मामले पर सागरिका घोष लिखती हैं ‘सुनकर हैरान हूं स्वतंत्र पत्रकारिता की हर रोज एक पराजय हो रही है।’

NDTV की निधि राजदान लिखती हैं ‘उम्मीद है तुम इससे लड़ रहे हो और मजबूती से लड़ रहे हो ।’

योगेन्द्र यादव लिखते हैं ‘जैसी स्वतंत्र पत्रकारिता निखिल करते हैं वो इन दिनों असंभव सी लगती है ।’

हालांकि इसके साथ ही उस शो के एग्जीक्यूटिव प्रोड्यूसर अभिजीत काम्बले ने भी tv9 से इस्तीफ़ा दे दिया ।

दरअसल मोदी सरकार के अंतर्गत एक ऐसा माहौल बनाया गया है जब आलोचना और असहमति की हर आवाज को दबा देने की कोशिश हो रही है। इसी कड़ी में उन मीडिया वालों के भी मुह बन्द कराए जा रहे हैं जिन्होंने भाजपा और संघ पर कभी भी किसी तरह से सवाल उठाया। इसीलिए लोग कह रहे हैं ये अघोषित आपातकाल का दौर है।

Loading...
loading...