कांग्रेस का महाधिवेशन हो रहा है। राहुल गांधी आज पहली बार राष्ट्रीय अध्यक्ष के तौर पर कांग्रेस के महाधिवेशन में शामिल हुए। दिल्ली में आयोजित इस महाधिवेशन को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नफरत की राजनीति करने वाला बताया।

पीएम मोदी पर तंज कसते हुए राहुल गांधी ने कहा कि वह नफरत की राजनीति करते हैं जबकि कांग्रेस प्रेम की राजनीति करती है। उन्होंने कहा कि “देश में एक व्यक्ति को दूसरे से लड़ाया जा रहा है। देश को बांटा जा रहा है, गुस्सा फैलाया जा रहा है। कांग्रेस का हाथ लोगों को जोड़ेगा”

बीजेपी में लगातार वरिष्ठ नेताओं का अपमान देखने को मिल रहा है। अभी कुछ दिनों पहले ही त्रिपुरा में शपथ ग्रहण समारोह में पीएम मोदी ने वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी को नजरअंदाज कर दिया।

कांग्रेस अपने वरिष्ठ नेताओं के साथ क्या करने वाली है इसका अंदाजा राहुल के भाषण से लगाया जा सकता है। राहुल ने कहा कि देश के युवाओं को तवज्जों देना अच्छी बात है लेकिन बिना वरिष्ठों के सहयोग के युवाओं को जोड़ा नहीं जा सकता है।

उन्होंने कहा कि पार्टी आगे जाती है तो इसमें युवाओं का पूर्ण रूप से योगदान होगा, लेकिन पार्टी के वरिष्ठ नेता उन्हें मार्ग दिखाने का काम करेंगे।

राहुल ने कहा महाधिवेशन भविष्य की बात करता है। बदलाव की बात करता है। लेकिन हमारी परंपरा रही है कि बदलाव किया जाता है किंतु बीते समय को भूला नहीं जाता। युवाओं की बात होती है। यदि युवा कांग्रेस को आगे ले जायेंगे तो जो हमारे अनुभवी नेता है, उनके बिना हमारी कांग्रेस पार्टी आगे नहीं जा सकती।

Loading...
loading...