आतंकियों ने अगवा कर भले ही लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या कर दी हो लेकिन उनका नाम नहीं मिटा सकते। उनके नाम पर एक स्कूल का नामकरण किया जाएगा। सेना ने उस इलाके के एक स्कूल का नाम लेफ्टिनेंट उमर फैयाज गुड विल स्कूल रखने का फैसला किया है।

सेना के अधिकारी विक्टर फोर्स बीएस राजू अन्य अधिकारियों के साथ आज उमर फैयाज के घर पहुंचे और उन्होंने कहा ‘हम लोग यहां पर एक स्कूल का नाम बदलकर लेफ्टिनेंट उमर फैयाज के नाम पर रखेंगे’।

गौरतलब है कि 10 मई को लेफ्टिनेंट उमर फैयाज एक शादी समारोह में गए थे जहां से उनको आतंकियों ने अगवा कर लिया और गोली मारकर हत्या कर दी थी।

राजपूताना राइफल्स में तैनात 23 वर्षीय उमर फयाज ने मामा की बेटी कि शादी में शामिल होने के लिए नौकरी की पहली छुट्टी थी ।

Loading...
loading...